क्या गुदा सेक्स से गर्भावस्था हो सकती है?

क्या आप गुदा सेक्स से गर्भवती हो सकती हैं? सीधे शब्दों में कहें तो इसका उत्तर है नहीं, और गुदा सेक्स गर्भावस्था से बचने का एक प्रभावी तरीका है।

हालांकि, कुछ दुर्लभ परिस्थितियाँ हैं जो गुदा सेक्स में अप्रत्यक्ष रूप से गर्भावस्था का कारण बन सकती हैं। और साथ ही गुदा सेक्स के कुछ अन्य जोखिम भी होते हैं जिनके बारे में आपको पता होना आवश्यक है।

2018 के एक सर्वेक्षण के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका में लोग पहले की तुलना में अब अधिक गुदा सेक्स कर रहे हैं। इसके अलावा, शोधकर्ताओं ने पाया कि कई महिलाओं को गुदा सेक्स अच्छा लगता है, जबकि अन्य के लिए यह दर्दनाक या अप्रिय होता है, और केवल बहुत जरूरी कारण होने पर ही वह इसके लिए सहमत होती हैं। इन जरूरी कारणों में गर्भावस्था से बचने की इच्छा या पुरुष साथी द्वारा भावनात्मक दबाव डालना शामिल है।

सेक्स गतिविधि दोनों पार्टनरों के लिए सुखद, आनंददायक और सहमति से किया गया अनुभव होना चाहिए। यदि आप सेक्स में कोई ऐसी चीज करने के लिए दबाव महसूस करती हैं, जो आप नहीं करना चाहतीं, तो अपने साथी को बताएं कि आप इस गतिविधि में शामिल नहीं होना चाहती हैं।

यदि आप गर्भावस्था से बचने के तरीके के रूप में गुदा सेक्स करती हैं, तो आपको कुछ तथ्यों को जानना महत्वपूर्ण है।

आइये गुदा सेक्स के जोखिमों पर बारीकी से नजर डालते हैं:

गर्भावस्था की सम्भावना है, लेकिन न के बराबर

पुरुष के एक बार के वीर्य में लाखों शुक्राणु होते हैं, जो काफी जिद्दी होते हैं और अंडे से मिलने के लिए जितना तेज हो सके उतना तेज तैरने की कोशिश करते हैं।

एक महिला तभी गर्भवती हो सकती है जब उसके अंडाशय ने एक पका हुआ अंडा फैलोपियन ट्यूब में छोड़ा हो। ऐसा महीने में केवल एक बार होता है।

एक अंडे को फर्टिलाइज करने के लिए, शुक्राणु को योनि के अंदर छोड़ा जाना आवश्यक होता है, ताकि वह गर्भाशय ग्रीवा से होते हुए तैर सकें।

शुक्राणु गर्भाशय ग्रीवा से तैरते हुए फैलोपियन ट्यूब में जाते हैं और वहाँ मौजूद अंडे को फर्टिलाइज करने की कोशिश करते हैं। जो शुक्राणु सबसे पहले अंडे तक पहुँचता है, केवल वही उसे फर्टिलाइज करता है।

गुदा और प्रजनन अंगों के बीच कोई आंतरिक लिंक मौजूद नहीं होती, इसलिए गुदा में छोड़े गए शुक्राणु तैरकर फैलोपियन ट्यूब तक नहीं पहुँच सकते।

हालांकि, जब भी शुक्राणु योनि के पास होते हैं, तो इस बात की कुछ संभावना होती है कि आप या आपका साथी गलती से शुक्राणुओं को योनि में फैला दे। यदि अन्य सभी स्थितियां अनुकूल होती हैं, जैसे फैलोपियन ट्यूब में पके अंडे का मौजूद होना, तो कुछ चिकित्सकों का मानना है कि इसके परिणामस्वरूप गर्भावस्था हो सकती है।

फर्टिलाइजेशन के लिए केवल एक शुक्राणु की आवश्यकता होती है। शरीर के बाहर या गुदा में शुक्राणु 15 से 30 मिनट तक जिंदा रह सकते हैं। योनि के अंदर शुक्राणु 5 दिनों तक जिंदा रह सकते हैं। मतलब स्खलन के 15 से 30 के अंदर यदि शुक्राणु किसी भी प्रकार से आपकी योनि के अंदर चले जाते हैं, तो गर्भावस्था की संभावना होती है।

इसलिए इसकी अधिक संभावना तो नहीं है, लेकिन बिना कंडोम के गुदा सेक्स करने से शुक्राणु योनि तक पहुँच सकते हैं।

याद रखें कि गुदा सेक्स में गर्भावस्था के लिए, न केवल शुक्राणु को किसी तरह योनि तक पहुंचने की आवश्यकता होगी, बल्कि महिला को अपने फर्टाइल पीरियड में होना भी आवश्यक है। आमतौर पर महिलाओं में फर्टाइल पीरियड हर मासिक धर्म में 3 से 7 दिनों के लिए होता है।

 
 
 
 

क्या पूर्व स्खलन में भी शुक्राणु होते हैं?

वीर्य स्खलन से पहले लिंग से निकलने वाले पदार्थ को पूर्व स्खलन कहा जाता है। यह सेक्स में चिकनाई प्रदान करने का काम करता है।

हालाँकि शुक्राणु स्खलन के बाद निकलने वाले वीर्य में सबसे अधिक होते हैं, लेकिन 2016 में हुए एक शोध से पता चलता है कि यह पूर्व स्खलन में भी थोड़ी मात्रा में मौजूद हो सकते हैं। इसलिए पूर्व स्खलन के कारण भी गर्भावस्था हो सकती है।

तो सैद्धांतिक रूप में, योनि में वीर्य छोड़े बिना भी, सिर्फ फोरप्ले के दौरान योनि में लिंग डालने से भी गर्भावस्था हो सकती है। इसलिए यदि आप गर्भावस्था से बचना चाहती हैं और गर्भनिरोध के अन्य तरीकों का उपयोग नहीं कर रही हैं, तो योनि में लिंग डालने से पूरी तरह से बचना सबसे अच्छा है।

असुरक्षित गुदा सेक्स के अन्य जोखिम

आपको यह ध्यान रखने की भी आवश्यकता है कि बिना कंडोम के गुदा सेक्स करने से बीमारी और चोट लगने की संभावना योनि सेक्स के मुकाबले अधिक होती है।

इसलिए हमेशा गुदा सेक्स के दौरान कंडोम का उपयोग करना बेहतर होता है।

गुदा सेक्स को एक उच्च जोखिम वाली गतिविधि माना जाता है। हालांकि, याद रखें कि यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) योनि सेक्स और गुदा सेक्स, दोनों से फैल सकते हैं।

ऐसा भी संभव है कि किसी व्यक्ति को यौन संचारित रोग हो और उसे इसके बारे में पता भी न हो, क्योंकि जयादातर यौन संचारित रोगों के तत्काल कोई लक्षण नहीं होते हैं।

यहाँ तक कि यह निर्धारित करने के लिए कोई मानक परीक्षण उपलब्ध नहीं है जो पुरुषों में ह्यूमन पेपिलोमावायरस (एचपीवी) का पता लगा सके, जिनमें से कुछ कैंसर तक का कारण बन सकते हैं।

गुदा सेक्स में संक्रमण की संभावना इसलिए बढ़ जाती है क्योंकि मलाशय की परत पतली, सूखी व नाजुक होती है और आसानी से फट जाती है, जिससे रक्त प्रवाह में वायरस, बैक्टीरिया या परजीवी के लिए प्रवेश का दरवाजा खुल जाता है।

भले ही किसी भी सेक्स पार्टनर को कोई गंभीर संक्रमण न हो, तब भी गुदा में मौजूद मल मूत्र मार्ग संक्रमण का कारण बन सकता है।

हालांकि लुब्रीकेंट फटने और रक्तस्राव को रोकने में मदद कर सकते हैं, लेकिन 2021 के एक शोध से पता चलता है कि यह संक्रमण के जोखिम को भी बढ़ा सकते हैं।

कुछ मामलों में, गुदा सेक्स के कारण मल त्याग की प्रक्रिया के कमजोर होने या अनैक्षिक रिसाब की सम्भावना भी होती है।

निष्कर्ष

गुदा सेक्स से गर्भावस्था होने की अत्यधिक संभावना नहीं होती, लेकिन कुछ परिस्थितियों में इसकी एक मामूली संभावना होती है। गुदा सेक्स के कारण अन्य स्वास्थ्य जोखिम होने की सम्भावना ज्यादा होती है।

यदि आप और आपका साथी गुदा सेक्स करने का मन बनाते हैं, तो आपके बीच संचार ठीक होना महत्वपूर्ण है। यह भी महत्वपूर्ण है कि आप सुरक्षा के लिए कंडोम का उपयोग करें और आप दोनों का एसटीआई टेस्ट हो चुका हो।

यदि आप यौन रूप से सक्रिय हैं और गर्भधारण को रोकना चाहती हैं, तो गर्भनिरोधक के कई अन्य विकल्प मौजूद हैं।

सही सावधानियाँ बरतने से, गुदा सेक्स आप दोनों के लिए एक सुखद अनुभव हो सकता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.