क्या हस्तमैथुन करने से मैं नामर्द हो सकता हूँ?

यह एक आम धारणा है कि बहुत अधिक हस्तमैथुन करने से स्तंभन दोष (नामर्दी) हो सकता है। स्तंभन दोष तब होता है जब आप लिंग को खड़ा करने या लम्बे समय तक खड़ा बनाये रखने में समर्थ नहीं होते।

हस्तमैथुन से स्तंभन दोष होना एक मिथ्या है जो तथ्यों पर आधारित नहीं है और यह सीधे तौर पर पुरुषों में स्तंभन दोष होने का कारण नहीं बनता है।

यह विचार हस्तमैथुन की कुछ जटिलताओं और स्तंभन दोष के शारीरिक व मानसिक कारकों की अनदेखी करता है, जिनमें से कई का हस्तमैथुन या पोर्न से कोई लेना-देना नहीं है।

शोध क्या कहते हैं

एक शोध ने एक ऐसे व्यक्ति के मामले को देखा, जो मानता था कि उसकी हस्तमैथुन की आदतों के कारण वह लिंग को पूरा खड़ा करने और अपनी पत्नी की कामनाओं को पूरा करने में असमर्थ हो गया, जिससे लगभग तलाक की नौवत आ गई।

अंततः उसमें प्रमुख डिप्रेशन विकार होने का पता चला। यौन शिक्षा और वैवाहिक उपचार के जरिये जोड़े को कुछ ही महीनों के भीतर दोबारा यौन संबंध स्थापित करने में सफलता मिली।

कुछ शोध बताते हैं कि पोर्न के जरिये बार-बार हस्तमैथुन करने से आपमें मानसिक अंतरंगता के प्रति संवेदनशीलता बढ़ सकती है, जो स्तंभन दोष में योगदान कर सकते हैं। इसमें पोर्न के कुछ न्यूरोलॉजिकल प्रभावों का अध्ययन किया गया है।

हालांकि, यह साबित करने के लिए कोई शोध मौजूद नही हैं जो यह बताते हों कि पोर्न देखने से व्यक्ति की शारीरिक प्रतिक्रिया प्रभावित हो सकती है, जिसके परिणामस्वरूप स्तंभन दोष होता हो।

एक अन्य शोध में उन जोड़ों के पुरुषों को देखा गया जिन्होंने एक-दूसरे की यौन आदतों के बारे में अपने संचार और समझ को बेहतर बनाने के लिए व्यवहारिक थेरेपी ली। शोध के अंत में प्रतिभागियों को स्तंभन दोष के प्रति कम शिकायतें थीं।

हालांकि शोध में हस्तमैथुन का कोई उल्लेख नहीं किया गया था, लेकिन यह दर्शाता है कि भागीदारों के बीच बेहतर संचार स्तंभन दोष के सुधार में मदद कर सकता है।

पुरुषों में स्तंभन दोष का वास्तविक कारण क्या है?

स्तंभन दोष के विभिन्न शारीरिक और मनोवैज्ञानिक कारण हो सकते हैं। कुछ मामलों में, यह दोनों के कारण हो सकता है।

शारीरिक कारक निम्न हैं:

  • अत्यधिक शराब या तंबाकू का सेवन
  • हाई या लो ब्लड प्रेशर
  • हाई कोलेस्ट्रॉल
  • मोटापा
  • डायबिटीज
  • दिल की बीमारी
  • स्वास्थ्य स्थितियां जैसे मल्टीप्ल स्क्लेरोसिस या पार्किंसंस रोग

मनोवैज्ञानिक कारक निम्न हो सकते हैं:

  • रोमांटिक रिश्तों में अंतरंगता अनुभव करने में कठिनाई या तनाव होना
  • आपके व्यक्तिगत या व्यावसायिक जीवन की स्थितियों से तनाव या चिंता
  • डिप्रेशन या अन्य संबंधित मानसिक समस्या
 
 
 
 

अन्य हस्तमैथुन मिथ्यायें

शायद हस्तमैथुन के बारे में सबसे आम मिथ्या यह है कि इसे करना सामान्य या प्राकृतिक नहीं होता।

लेकिन अमेरिका की इंडियाना यूनिवर्सिटी के अनुसार 90 प्रतिशत तक पुरुषों और 80 प्रतिशत महिलाओं का दावा है कि उन्होंने अपने जीवन में कभी न कभी हस्तमैथुन किया है।

एक और आम मिथ्या यह है कि हस्तमैथुन आपको अंधा बना सकता है या आपकी हथेलियों पर बाल उगाना शुरू कर सकता है।

यह भी एक गलत मिथ्या है। बल्कि कुछ सबूत तो यह बताते हैं कि हस्तमैथुन के कई शारीरिक और मानसिक लाभ हो सकते हैं।

नामर्दी से बचाव

आप अपनी जीवनशैली में कुछ स्वस्थ बदलाव कर सकते हैं जो आपमें स्तंभन दोष होने से रोकने में मदद कर सकते हैं, जैसे:

  • रोज 30 मिनट के लिए व्यायाम करें
  • सिगरेट या अन्य तंबाखू उत्पादों से परहेज करें
  • शराब के सेवन को कम करें
  • मेडिटेशन करें या तनाव को कम करने वाली गतिविधियों में संलग्न हों

यदि आपमें कोई ऐसी स्वास्थ्य स्थिति है जो आपकी नामर्दी का कारण बन रही है, तो इसे प्रबंधित करने के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप यथासंभव स्वस्थ हैं, साल में कम से कम एक बार पूर्ण शारीरिक परीक्षण करवाएं और डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाएं लें।

नामर्दी का उपचार

नामर्दी के लिए एक उपचार योजना आपके स्तंभन दोष के कारण पर निर्भर करती है। नामर्दी का सबसे आम कारण लिंग की धमनियों में रक्त के प्रवाह की कमी है, इसलिए कई उपचार इस समस्या का समाधान करते हैं।

दवायें

वियाग्रा, लेवित्रा और सियालिस जैसी दवाएं नामर्दी के इलाज लिए सबसे आम उपचारों में से एक हैं।

इन दवाओं के कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं, जिनमें पेट दर्द, सिरदर्द और निस्तब्धता शामिल है।

यह आपके द्वारा ली जा रही अन्य दवाओं के साथ और उच्च रक्तचाप व गुर्दे या यकृत रोग जैसी स्थितियों के साथ भी खतरनाक रूप से परस्पर क्रिया कर सकती हैं।

पेनिस पंप

यदि रक्त प्रवाह में कमी आपमें नामर्दी का कारण बन रही है, तो पेनिस पंप जैसे लिंग वर्धक यंत्र उपयोगी साबित हो सकते हैं।

एक पेनिस पंप लिंग के चारों ओर से हवा को बाहर निकालने के लिए एक वैक्यूम ट्यूब का उपयोग करता है, जिससे लिंग में अधिक रक्त बहने लगता है और वह पूरा लम्बा-मोटा हो जाता है।

सर्जरी

दो प्रकार की सर्जरी भी स्तंभन दोष के इलाज में मदद कर सकती हैं:

  • पेनाइल इम्प्लांट सर्जरी: डॉक्टर छड़ से बने एक लचीले इम्प्लांट को लिंग लगता है। यह इम्प्लांट आपके लिंग के खड़ेपन को नियंत्रित करता है, और आप जितनी देर चाहे उतनी देर अपने लिंग को खड़ा बनाये रख सकते हैं।
  • रक्त वाहिका की सर्जरी: डॉक्टर आपके लिंग की अवरुद्ध धमनियों, जो रक्त प्रवाह को रोक रही हैं, उनपर बाईपास सर्जरी कर सकता है। यह प्रक्रिया इम्प्लांट सर्जरी की तुलना में बहुत कम आम है, लेकिन कुछ मामलों में यह मदद कर सकती है।

अन्य विकल्प

डॉक्टर आपके लिंग में कुछ इंजेक्शन या सपोसिटरी लगवाने की भी सलाह दे सकता है, जो आपके लिंग की रक्त वाहिकाओं को आराम देने और रक्त के प्रवाह को मुक्त करने में मदद करते हैं।

इन दोनों उपचारों के अपने दुष्प्रभाव होते हैं, और इनके कारण आपके लिंग या मूत्रमार्ग में दर्द व ऊतक विकास हो सकते हैं।

आपका स्तंभन दोष कितना गंभीर है, इस पर निर्भर करते हुए अपने डॉक्टर से बात करें कि क्या यह उपचार आपके लिए सही हैं।

यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि कुछ मनोवैज्ञानिक या भावनात्मक कारणों से आपमें स्तंभन दोष हो रहा है, तो वह आपको एक मनोवैज्ञानिक डॉक्टर या थेरेपिस्ट के पास भेज सकता है।

काउन्सलिंग या थेरेपी के जरिये आपको स्तंभन दोष में योगदान देने वाले अंतर्निहित मानसिक स्वास्थ्य मुद्दों, मनोवैज्ञानिक स्थितियों, या अपने व्यक्तिगत जीवन की स्थितियों के बारे में अधिक जागरूक बनने में मदद मिल सकती है।