क्या हस्तमैथुन करने से लिंग बड़ा या छोटा होता है?

चलिए इस हॉट प्रश्न का अभी उत्तर दे देते हैं – नहीं, हस्तमैथुन का आपके लिंग के आकार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता।

यह सिर्फ हस्तमैथुन और लिंग के आकार के बीच संबंध होने के बारे में फैली कई भ्रांतियों में से एक है। हस्तमैथुन पूरी तरह से सामान्य और प्राकृतिक गतिविधि है, और इसका आपके यौन और सामान्य स्वास्थ्य पर कोई हानिकारक प्रभाव नहीं पड़ता है।

आइए कुछ ऐसी भ्रांतियों के बारे में जानें जिनसे आप अपनी कई यौन चिंताओं को दूर कर सकते हैं और लिंग के आकार व दिखावट में सुरक्षित तरीके से बदलाव ला सकते हैं।

लिंग सिकुड़ने या छोटा होने की भ्रांति

इस व्यापक भ्रांति का एक भी सबूत नहीं है कि हस्तमैथुन से लिंग छोटा होता है। लेकिन निश्चित रूप से लोगों के पास इसको लेकर कई थ्योरी हैं – जिनमें से कोई भी थ्योरी वैज्ञानिक शोधों के आगे नहीं टिकती।

इस धारणा की एक संभावित थ्योरी यह है कि स्खलन आपके टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम कर देता है। बहुत से लोग यह भी मानते हैं कि टेस्टोस्टेरोन का स्तर ही आपके लिंग के बढ़ने और सिकुड़ने के लिए जिम्मेदार होता है।

तो विस्तार से समझें तो टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होने पर लिंग भी छोटा होना चाहिए। लेकिन यह गलत धारणा है।

इस धारणा के गलत होने के दो प्राथमिक कारण निम्न हैं:

  • आपके स्खलन के बाद टेस्टोस्टेरोन का स्तर केवल कुछ समय के लिए ही नीचे गिरता है। जब आप हस्तमैथुन या सेक्स करते हैं तो आपका टेस्टोस्टेरोन का स्तर अस्थायी रूप से बढ़ जाता है। और फिर जब आप स्खलित होते हैं तो यह अपने सामान्य स्तर से थोड़ा नीचे आ जाता है। लेकिन इससे आपके रक्त में प्राकृतिक रूप से मौजूद टेस्टोस्टेरोन के स्तर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता, न तो अल्पकालिक और न ही दीर्घकालिक।
  • टेस्टोस्टेरोन के स्तर का आपके लिंग के आकार या इसकी खड़े होने की क्षमता से कोई लेना-देना नहीं होता। 2011 में कोरिया में हुए एक शोध के अनुसार, आपके लिंग का आकार मुख्य रूप से आपके जेनेटिक जीन द्वारा निर्धारित होता है। आपका लिंग खड़ा करने और खड़ा बनाए रखने की आपकी क्षमता केवल टेस्टोस्टेरोन से प्रभावित नहीं होती है – बल्कि आपकी मन: स्थिति, आहार, जीवनशैली और समग्र स्वास्थ्य, यह सभी लिंग के खड़ा होने की क्षमता को प्रभावित करते हैं।

क्या हस्तमैथुन से मेरे लिंग की वृद्धि रुक सकती है?

फिर से, नहीं। यह धारणा भी टेस्टोस्टेरोन के स्तर के बारे में लोगों में फैली भ्रांतियों के कारण है।

2010 में हुए एक शोध के अनुसार टेस्टोस्टेरोन विशेष रूप से किशोरावस्था (13 से 18 वर्ष की आयु) के दौरान आपके लिंग के विकास में सहायक होता है। लेकिन जीवन भर आपके लिंग के विकास के लिए कई हार्मोन जिम्मेदार होते हैं। साथ ही, स्खलन के बाद टेस्टोस्टेरोन में आई अस्थायी कमी, आपके शरीर के टेस्टोस्टेरोन के समग्र भंडार को प्रभावित नहीं करती है।

वास्तव में, अस्वास्थ्यकर भोजन करना, पर्याप्त व्यायाम न करना, और वायुजल प्रदूषकों के संपर्क में आना, आपके लिंग के विकास को अवरुद्ध करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं।

क्या हस्तमैथुन से मेरा लिंग बड़ा हो सकता है?

नहीं। यह स्पष्ट नहीं है कि यह गलत धारणा कहां से आई है। कुछ का मानना ​​है कि यह इस विचार से उपज सकती है कि हस्तमैथुन से लिंग की एक्सरसाइज होती है, जिससे उसकी मांसपेशियों की ताकत बढ़ सकती है।

यह सच है कि एक्सरसाइज से मांसपेशियों की ताकत बढ़ती है। लेकिन लिंग एक रक्त का गुच्छा होता है, जिसमें जितना रक्त भरे वह उतना ही बड़ा हो जाता है। लिंग की मांसपेशियों के मजबूत होने से इसमें रक्त भरने की क्षमता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता और न ही यह बड़ा होता है।

 
 
 
 

क्या जीवनशैली में बदलाव करने से लिंग का आकार प्रभावित हो सकता है?

इस प्रश्न का भी छोटा उत्तर ‘नहीं’ है। अपने आहार, मादक द्रव्यों के सेवन या एक्सरसाइज में बदलाव लाने से आपका लिंग बड़ा या छोटा नहीं होगा।

लेकिन इस मामले में एक फायदा है: एक स्वस्थ लिंग का रक्त प्रवाह से बहुत कुछ लेना-देना है। जब आप उत्तेजित होते हैं, तो रक्त लिंग की शाफ्ट में ऊतक के तीन बेलनाकार टुकड़ों में प्रवाहित होता है, जिससे वह लम्बा-चौड़ा होने लगता है। इस रक्त प्रवाह में सुधार के लिए आप जो कुछ भी कर सकते हैं, वह आपके लिंग के स्वास्थ्य और खड़े होने की क्षमता के लिए फायदेमंद होगा।

यहां कुछ टिप्स दी गई हैं जो आपके लिंग को बड़ा तो नहीं कर सकतीं, लेकिन उसके खड़ा होने की क्षमता और कठोरता में जरूर बढ़ोतरी कर सकती हैं:

क्या लिंग का आकार बढ़ाना संभव है?

अपने लिंग को बड़ा करने या फैलाने के कुछ सुरक्षित और प्रभावी तरीके, दवाएँ, एक्सरसाइज, यंत्र, योग आदि उपलब्ध हैं, जिनके इस्तेमाल से कुछ लोगों को संतोषजनक परिणाम प्राप्त हुए हैं।

हालाँकि इन लिंग बड़ा करने की तकनीकों के परिणाम काफी धीमे होते हैं, और आपको दिखाई देने योग्य परिणाम प्राप्त करने के लिए इन्हें नियमित रूप से लम्बे समय तक अपनाना आवश्यक होगा।

आपको इस बात का ध्यान रखना भी जरूरी है कि हर व्यक्ति के लिंग का आकार, बनावट, रंग आदि अलग-अलग होते हैं और अधिकतर मामलों में इनका उनके सेक्स करने की क्षमता पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता।

यदि आपकी सेक्सुअल पार्टनर या कोई अन्य व्यक्ति आपके लिंग के बारे में आपकी धारणा को प्रभावित कर रहा है, तो उनसे इस बारे में बात करें कि यह आपको कैसा महसूस कराता है।

आप एक मनोवैज्ञानिक से भी बात कर सकते हैं, जो यौन स्वास्थ्य में विशेषज्ञता रखता हो। वह आपके लिंग के आकार और रूप से संतुष्ट होना सीखने में और अपनी भावनाओं के बारे में अपने साथी से बात करने के लिए आपका आत्मविश्वास बढ़ाने में आपकी मदद कर सकता है।

निष्कर्ष

हस्तमैथुन आपके लिंग के आकार को न तो बड़ा करता है, और न ही छोटा। वास्तव में, हस्तमैथुन आपको अपने शरीर को गहराई से जानने और अपनी यौन प्राथमिकताओं को जानने में अधिक मदद कर सकता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.