लिंग का ढीलापन और नसों में कमजोरी दूर करने के तरीके

आजकल पुरुषों के लिंग में ढीलापन और नसों में कमजोरी होना काफी गंभीर समस्या है। इसके होने के कई कारण हो सकते हैं जिनमें सबसे मुख्य हैं – अनियमित जीवनशैली और खानपान, मोटापा, दिल की बीमारी, मधुमेह, धूम्रपान, अत्यधिक शराब का सेवन, अत्यधिक हस्तमैथुन, इरेक्टाइल डिसफंक्शन, लिंग में ब्लड सर्कुलेशन (रक्त संचार) ठीक न होना और कुछ दवाओं का सेवन।

लिंग ठीक से खड़ा न होने की समस्या के कुछ मनोवैज्ञानिक कारण भी हो सकते हैं जैसे डिप्रेशन, तनाव और अपने पार्टनर के साथ संबंधों में दरार होना। यही कारण है कि आपको डॉक्टर के पास जाने से पहले अपने आप में कुछ बदलाव लाकर इस समस्या को ठीक करने की कोशिश करनी चाहिए।

लिंग में ढीलापन से पीड़ित व्यक्ति को निम्न समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है –

हालाँकि लिंग की नसों में कमजोरी और ढीलापन का इलाज करने के लिए डॉक्टर से दवाओं या सर्जरी का सहारा लिया जा सकता है। लेकिन आपके आपके शरीर पर इनके कई दुष्परिणाम भी हो सकते हैं। ऐसी कई प्राकृतिक तरीके भी हैं जिनको अपनाकर आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

मई 2014 में जर्नल ऑफ़ सेक्सुअल मेडिसिन में प्रकाशित हुए एक शोध में पाया गया कि पुरुष अपनी जीवनशैली में कुछ स्वस्थ बदलाव जैसे नियमित व्यायाम, वजन कम करना, उचित खानपान और अच्छी नींद लेकर इस समस्या से छुटकारा पा सकता है। साथ ही, शोधकर्ताओं ने यह भी कहा कि यदि आप लिंग की नसों में कमजोरी दूर करने के लिए कुछ दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो भी इन्हें सम्पूर्ण कारगर बनाने के लिए आपको अपनी जीवनशैली में भी बदलाव लाना जरूरी है।

इस समस्या को ठीक करने के लिए डॉक्टर अक्सर निम्न दवाओं का सेवन करने की सलाह देते हैं –

  • Stendra (avanafil)
  • वियाग्रा (sildenafil)
  • Cialis (tadalafil)
  • Levitra or Staxyn (vardenafil)

अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से बात कर सकते हैं।

लिंग का ढीलापन दूर करने के प्राकृतिक तरीके

नियमित व्यायाम करना

लिंग के ढीलापन दूर करने के लिए जीवनशैली में कई बदलाव लाये जा सकते हैं, लेकिन लिंग की एक्सरसाइज सबसे कारगर होती हैं। एक्सरसाइज लिंग की शिथिलता से लड़ती हैं और इरेक्टाइल डिसफंक्शन को बनने से रोकती हैं।

लिंग की एक्सरसाइज वियाग्रा की तरह होती हैं जो लिंग में रक्त के संचार को बढ़ाकर इरेक्शन को स्ट्रांग बनाती हैं और रक्त वाहिकाओं में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा बढ़ाने में मदद करती हैं जिससे लिंग में ब्लड प्रेशर बढ़ता है। वियाग्रा भी ऐसे ही काम करता है।

loading...

वेट जैकिंग एक्सरसाइज के जरिये टेस्टोस्टेरोन का प्राकृतिक निर्माण बढ़ाने में काफी मदद मिलती है। टेस्टोस्टेरोन लिंग को खड़ा करने के लिए और स्ट्रांग बनाये रखने के लिए एक महत्वपूर्ण घटक होता है।

स्वस्थ आहार का सेवन

आप जो खाते हैं उसका सीधा असर आपकी स्वास्थ्य स्थिति पर पड़ता है। एक स्वस्थ भोजन जिसमें फल, हरी सब्जियाँ, साबुत अनाज और फिश हो वो लिंग को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। लिंग को स्वस्थ रखने में मदद करने वाली सभी खाद्य पदार्थों की सूची हमने इस लेख में नीचे दी है।

अत्यधिक तला भुना और जंक फूड्स से भरपूर भोजन आपकी सेक्स लाइफ पर काफी बुरा असर डाल सकता है।

एक स्वस्थ आहार शरीर के वजन और मोटापे को नियंत्रित करने में भी मदद करता है। मोटापे ग्रसित पुरुषों के लिंग में ढीलापन और कमजोरी की समस्या होने की सम्भावना 50 प्रतिशत ज्यादा होती है। साथ ही, मोटापा दिल की बीमारी, रक्त वाहिकाओं की बीमारी और महुमेह होने की सम्भावना को बढ़ा देता है जो आपकी सेक्सुअल लाइफ को खराब करने में सबसे बड़ा योगदान देती हैं।

पूरी नींद लें

नींद की कमी या अनियमित नींद जैसे रात को देर से सोना और सुबह देर से उठना और दिन में अधिक सोना, शीघ्रपतन और लिंग की कमजोरी के सबसे मुख्य कारणों में से एक होते हैं। जर्नल ऑफ़ ब्रेन रिसर्च में पब्लिश हुई एक रिपोर्ट के अनुसार सेक्स हॉर्मोन्स और नींद के बीच काफी गहरा सम्बन्ध होता है और पूरी नींद लेने से टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ता है।

हमारे शरीर में हॉर्मोन्स का स्त्राव आंतरिक घड़ी के जरिये नियंत्रित होता है और नींद का पैटर्न शरीर को हॉर्मोन स्त्राव करने के समय को निर्धारित करने में मदद करता है।

इसीलिए रोज रात को जल्दी सोएँ और सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करें। यदि आपको दिन में सोने की आदत है तो इसकी समय सीमा दो घंटे से ज्यादा न होने दें।

धूम्रपान को छोड़ दें

कई पुरुषों में सिर्फ धूम्रपान छोड़ने से ही लिंग में कमजोरी की समस्या ठीक हो जाती है, खासतौर से तब जब यह समस्या किसी वैस्कुलर बीमारी के कारण हुई हो। वैस्कुलर बीमारियों में रक्त की वाहिकाएँ सिकुड़ने लगती हैं और लिंग में रक्त के प्रभाव में रुकावट आने लगती है। रक्त वाहिकाओं में रक्त के ब्लॉक होने में धूम्रपान भी एक कारण होता है।

यदि आप धूम्रपान करते हैं तो इसे छोड़ दें। यदि आपको इसे छोड़ने में परेशानी हो रही है तो अपने डॉक्टर से बात करके उचित उपचार लें।

शराब का सेवन कम करें

अल्कोहल एक डिप्रेसेंट होता है जो स्थाई और अस्थाई दोनों रूप से लिंग में कमजोरी ला सकता है।

हमारा सेंट्रल नर्वस सिस्टम शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड को उत्पादित करने में महत्वपूर्ण होता है। नाइट्रिक ऑक्साइड लिंग को पूरा खड़ा करने में और वीर्य को लम्बे समय तक रोके रखने में जरूरी होता है।

अत्यधिक शराब का सेवन करने से सेंट्रल नर्वस सिस्टम का कामकाज धीमा हो जाता है जिसके फलस्वरूप शरीर को जरूरत अनुसार नाइट्रिक ऑक्साइड नहीं मिल पाता और लिंग की नसों में कमजोरी और ढीलापन आने लगता है।

मेडिकल दवाओं का सेवन सोच-समझ कर करें

किसी स्वास्थ्य समस्या में खाई जाने वाली मेडिकल दवाएँ भी साइड इफ़ेक्ट के रूप में लिंग को कमजोर कर सकती हैं।

इनमें निम्न बीमारियों की दवाएँ मुख्य हैं – हाई ब्लड प्रेशर, एंटीडिप्रेसेंट (डिप्रेशन को कम करने वाली दवाएँ), कुछ ड्यूरेटिक, बीटा-ब्लॉकर्स, दिल की दवाएँ, कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने वाली दवाएँ, एंटी-साइकोटिक ड्रग्स (मनोरोग प्रतिरोधी), हॉर्मोन ड्रग्स, कोर्टिकोस्टेरोइड, कीमोथेरपी और गंजापन दूर करने वाली दवाएँ।

यदि आपको लगता है कि आपकी किसी दवा के सेवन के कारण आपका लिंग सिथिल पड़ गया है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। खुद से अंदाजा लगाकर इन दवाओं का सेवन करना बंद न करें। कुछ दवाओं का सेवन और छोड़ने की समय सीमा डॉक्टर से सलाह लेकर करना बहुत जरूरी होता है।

एक्यूपंक्चर इस समस्या को ठीक करने में मदद कर सकता है

2003 में जर्नल ऑफ़ अल्टरनेटिव एंड कम्प्लीमेंटरी मेडिसिन में हुई एक रिसर्च के अनुसार एंटीडिप्रेसेंट के साइड इफ़ेक्ट के कारण कारण होने वाली लिंग की कमजोरी को ठीक करने में एक्यूपंक्चर लाभकारी हो सकता है।

एंटीडिप्रेसेंट का सेवन करने वाले 50 प्रतिशत लोगों में सेक्सुअल कमजोरी आने की सम्भावना होती है। कुछ मामलों में तो यह सम्भावना 90 प्रतिशत तक हो सकती है।

एक्यूपंक्चर एक इलाज करने की पद्धति होती है जिसमें शरीर पर छोटी-छोटी सुइयाँ चुभोई जाती हैं।

लिंग की नसों में कमजोरी दूर करने वाले 6 खाद्य पदार्थ

कुछ खाद्य पदार्थों के नियमित सेवन करने से लिंग को मजबूत बनाया जा सकता है और सेक्स पावर बढ़ाई जा सकती है। जिनमें मुख्य नीचे दिए जा रहे हैं –

1. हरी पत्तेदार सब्जियों और चुकंदर में मौजूद नाइट्रेट्स

हरी पत्तेदार सब्जियाँ जैसे पालक और हरी अजवायन सर्कुलेशन बढ़ाने में मदद करती हैं, क्योंकि इनमें अधिक मात्रा में नाइट्रेट्स पाए जाते हैं। चुकंदर को भी नाइट्रेट्स से भरपूर पाया गया है।

नाइट्रेट्स वाहिकाविस्फारक (vasodilators) होते है, जिसका मतलब है कि यह रक्त वाहिकाओं को चौड़ा करते हैं और किसी भी प्रकार की रुकावट को हटा देते हैं जिससे रक्त का संचार ठीक होता है।

loading...

कई साल पहले 1998 में अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट ने लिंग की कमजोरी दूर करने वाले कुछ ड्रग्स को मंजूरी दी। इन ड्रग्स के इस्तेमाल करने वाले कुछ मामलों में यह बात सामने आई कि सेक्स कमजोरी को दूर करने में नाइट्रेट्स लाभकारी होते हैं। आजकल बाजार में उपलब्ध लिंग बढ़ाने वाले ड्रग्स भी नाइट्रेट्स पर आधारित होते हैं।

2. डार्क चॉकलेट में मौजूद फ्लेवोनॉयड

कई शोधों से यह बात पता चली है कि फ्लेवोनॉयड्स रक्त संचार को सुचारू रूप से चलाने में मदद करते हैं। इसलिए यह ब्लड सर्कुलेशन के कारण होने वाली लिंग की कमजोरी में लाभकारी हो सकते हैं।

फ्लेवोनॉयड्स प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं जो पेड़-पौधों को विषाक्त पदार्थों से बचाते हैं और सेल डैमेज को रिपेयर करने में मदद करते हैं। शोधों से यह साबित हुआ है कि फ्लेवोनॉयड्स और अन्य एंटीऑक्सिडेंट्स के मनुष्यों पर भी समान प्रभाव होते हैं।

यह ब्लड प्रेशर को कम करने में और कोलेस्ट्रॉल को जमा होने से रोकने में मदद कर सकते हैं। यह दोनों ही कारक लिंग को ढीला, कमजोर और सिथिल बनाने में अपनी भूमिका अदा करते हैं।

3. पिस्ता में मौजूद प्रोटीन

हाल ही में हुए एक शोध में नामर्दी से ग्रसित पुरुषों को लगातार तीन हफ्तों के लिए रोज पिस्ता खाने को कहा गया। इसके फलस्वरूप उनकी सेक्स समस्याओं, उत्तेजना और सम्पूर्ण यौन संतुष्टि में महत्वपूर्ण सुधार देखे गए।

लिंग खड़ा करने में पिस्ता के फायदेमंद होने का मुख्य कारण इसमें मौजूद अर्गिनिन (arginine) नामक प्रोटीन होता है जो ब्लड वेसल्स को रिलैक्स करने में मदद करता है।

ईरान के डॉक्टर पैरी दानेश्गरी कहते हैं “यह एक और उदारहरण है कि कैसे यौन स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए और लिंग को पूरा खड़ा करने के लिए लिंग में रक्त संचार ठीक होना जरूरी होता है। और यह एक अच्छा समाचार है क्योंकि मैं बहुत ज्यादा मात्रा में पिस्ता का सेवन करता हूँ।”

4. जिंक से भरपूर शीप और अन्य शेलफिश

शीप को हमेशा से ही एक प्राकृतिक कामोद्दीपक माना जाता है। इसका कारण है शीप में मौजूद भरपूर जिंक पदार्थ जो पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के प्रोडक्शन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है और टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होने से भी लिंग ढीला और कमजोर पड़ सकता है।

अमेरिकन केमिकल सोसाइटी में प्रस्तुत किये गए शोधों के अनुसार शेलफिश में ऐसे कई घटक पाए जाते हैं जो पुरुष और महिलाओं दोनों में सेक्सुअल हॉर्मोन्स के स्त्राव को बढ़ाते हैं।

5. तरबूज में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स

कुछ शोधों से यह बात सामने आई है कि लिंग की कमजोरी के इलाज में तरबूज वियाग्रा की तरह काम कर सकता है और सेक्स इच्छा को बढ़ाने में मदद करता है।

तरबूज में फायटो न्यूट्रिएंट (phytonutrients) नामक फायदेमंद एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो लिंग में रक्त को संचार करने वाली धमनियों को आराम प्रदान करते हैं।

चूँकि तरबूज 92 प्रतिशत हिस्सा पानी होता है, लेकिन बाकि का 8 प्रतिशत हिस्सा आपकी सेक्सुअल लाइफ में चमत्कारी बदलाव ला सकता है।

6. टमाटर और चकोतरा में मौजूद लाइकोपीन

लाइकोपीन रक्त संचार और सेक्सुअल डिजायर बढ़ाने वाले फायटो न्यूट्रिएंट में से एक होता है। लाइकोपीन ज्यादातर गाड़े लाल खाद्य पदार्थों जैसे टमाटर और चकोतरा में पाया जाता है।

कुछ शोधों से यह बात पता चली है कि लाइकोपीन शरीर में तब अधिक अवशोषित होता है जब इसे ऑयली फूड्स जैसे अवोकेडो या जैतून के तेल के साथ सेवन किया जाये। इसलिए आप टमाटर या चकोतरा की सलाद पर जैतून का तेल डालकर सेवन कर सकते हैं।

शोधों से यह बात भी सामने आई है कि लाइकोपीन पुरुषों में इनफर्टिलिटी और प्रोस्टेट कैंसर से भी लड़ता है।

निष्कर्ष

अपने लिंग को मबजूत और सख्त बनाने के लिए ऊपर दिए खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करें। साथ ही, एक स्ट्रिक्ट लाइफस्टाइल को फॉलो करें। रात को जल्दी सो जाएँ और सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करें। सुबह चाय की जगह ग्रीन टी का सेवन करें। खाना अच्छे चबाकर खाएँ और खाने के बाद कम से कम 15 मिनट के लिए टहलें। सेक्स को लम्बे समय तक करने के लिए प्राकृतिक तकनीकों का उपयोग करें

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.