क्या वजन कम करने से स्तंभन दोष ठीक होता है?

दुनिया के लगभग 10 प्रतिशत पुरुषों को अपने जीवन में कभी न कभी किसी न किसी प्रकार का स्तंभन दोष (नामर्दी) का अनुभव होने का अनुमान है।

हालाँकि, जब आपको अपना लिंग खड़ा करने या खड़ा बनाए रखने में समस्या हो रही हो, तो कोई भी आँकड़ा आपको सांत्वना नहीं देगा।

यहां पर हम जानेंगे कि मोटापा स्तंभन दोष पर किस प्रकार से योगदान कर सकता है और इसे ठीक करने के लिए आप क्या कर सकते हैं।

स्तंभन दोष के लक्षण

आमतौर पर स्तंभन दोष के लक्षण पहचानना काफी आसान होता है:

  • आप अचानक से अपने लिंग को खड़ा करने या खड़ा बनाए रखने में सक्षम नहीं हैं।
  • आप अपनी यौन इच्छा में कमी का अनुभव भी कर सकते हैं।

स्तंभन दोष के लक्षण रुक-रुक कर हो सकते हैं। यानी आप कुछ दिनों या हफ्तों के लिए स्तंभन दोष के लक्षणों का अनुभव कर सकते हैं और फिर उन्हें ठीक पा सकते हैं।

यदि आपका स्तंभन दोष वापस आता है या काफी लम्बे समय से बार-बार हो रहा है, तो डॉक्टर से मिलें।

स्तंभन दोष के कारण

स्तंभन दोष किसी भी उम्र में पुरुषों को प्रभावित कर सकता है। हालाँकि, जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, समस्या होने की संभावना अधिक आम हो जाती है।

स्तंभन दोष भावनात्मक या शारीरिक समस्या या दोनों के संयोजन के कारण हो सकता है। इसके शारीरिक कारण वृद्ध पुरुषों में अधिक आम हैं। युवा पुरुषों के लिए, आमतौर पर भावनात्मक मसले इसका कारण होते हैं।

कई शारीरिक स्थितियां भी लिंग में रक्त के प्रवाह को बाधित कर सकती हैं, जिससे स्तंभन दोष हो सकता है।

इसलिए स्तंभन दोष का सटीक कारण खोजने में आपको कुछ समय और धैर्य लग सकता है।

स्तंभन दोष के निम्न कारण हो सकते हैं:

  • चोट या कोई अन्य शारीरिक कारण, जैसे कि रीढ़ की हड्डी में चोट या लिंग के अंदर स्कार टिश्यू बनना
  • प्रोस्टेट कैंसर या बढ़े हुए प्रोस्टेट के कुछ उपचार लेने के कारण
  • कोई रोग, जैसे हार्मोनल असंतुलन, डिप्रेशन, डायबिटीज, या हाई ब्लड प्रेशर के कारण
  • दवाएं या ड्रग्स, जैसे कि अवैध ड्रग्स, ब्लड प्रेशर की दवाएं, हृदय की दवाएं, या अवसादरोधी दवाएं
  • भावनात्मक कारण, जैसे चिंता, तनाव, थकान, या रिश्ते में मतभेद
  • जीवनशैली से जुड़ी समस्याएं, जैसे भारी शराब का सेवन, तंबाकू का सेवन या मोटापा

मोटापा और स्तंभन दोष

मोटापा स्तंभन दोष सहित कई बीमारियों या स्थितियों के लिए आपके जोखिम को बढ़ाता है। अधिक वजन वाले या मोटापे से ग्रस्त पुरुषों में निम्न समस्याएं विकसित होने का खतरा अधिक होता है:

  • दिल की बीमारी
  • डायबिटीज
  • धमनियों में फैट जमना
  • हाई कोलेस्ट्रॉल

ये सभी स्थितियां खुद से ही स्तंभन दोष का कारण बन सकती हैं। लेकिन मोटापे के साथ होने पर, आपको स्तंभन दोष का अनुभव होने की संभावना बहुत बढ़ जाती है।

अपने वजन को नियंत्रित करें

सामान्य जननांग कामकाज को बहाल करने के लिए वजन कम करना सबसे अच्छे तरीकों में से एक होता है।

एक शोध में पाया गया कि:

  • शोध में भाग लेने वाले 30 प्रतिशत से अधिक पुरुषों ने अपनी सामान्य यौन क्रिया को पुनः प्राप्त किया।
  • इन पुरुषों ने 2 साल की अवधि में औसतन 15 किग्रा वजन कम किया।
  • वजन कम करने के साथ-साथ पुरुषों ने अपने ऑक्सीडेटिव और इंफ्लेमेटरी कारकों में भी कमी पाई।

प्रतिभागियों का वजन घटाने के लिए शोधकर्ताओं ने किसी दवा या सर्जिकल विकल्प का उपयोग नहीं किया। इसके बजाय, पुरुषों ने प्रत्येक दिन अपने भोजन 300 कैलोरी कम खाई और अपनी साप्ताहिक शारीरिक गतिविधि में वृद्धि की।

स्तंभन दोष और अन्य शारीरिक समस्याओं के जवाब की तलाश में रहने वाले पुरुषों के लिए कम खाने और अधिक शारीरिक गतिविधि करने का दृष्टिकोण बहुत फायदेमंद हो सकता है।

एक बोनस के रूप में, वजन कम करने वाला व्यक्ति अपने आत्म-सम्मान में वृद्धि और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार का अनुभव कर सकता है।

कुल मिलाकर, यदि आप अपना स्तंभन दोष समाप्त करना चाहते हैं, तो वजन घटाने और मोटापे को नियंत्रित करने से फायदा मिल सकता है।

डॉक्टर से बात करें

यदि आप अपनी यौन क्रिया में कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं, तो डॉक्टर से बात करने के लिए अपॉइंटमेंट लें।

ईडी के संभावित कारण कई हैं। हालांकि, इनमें से कई आसानी से पहचाने जाने योग्य और उपचार योग्य हैं।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.