नपुंसकता (नामर्दी) के कारण और उपाय

आजकल पुरुषों में नपुंसकता या नामर्दी की समस्या होना काफी आम बात है। इसको मेडिकल भाषा में इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहा जाता है। कई शोधों के अनुसार हर दूसरा पुरुष अपने जीवन में कभी न कभी नपुंसकता का सामना करता है।

यह समस्या ज्यादातर 40 साल से अधिक उम्र के पुरुषों में देखी जाती है, लेकिन जवान पुरुष भी इसका सामना करना पड़ सकता है।

नपुंसकता का इलाज करने से पहले इसकी पूरी जानकारी होना आवश्यक होता है। जब पुरुष सम्भोग के समय अपने स्खलन को लंबे समय तक रोक नहीं पाता और जल्दी स्खलित हो जाता है तो इस अवस्था को इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहा जाता है। साथ ही, इस समस्या में पुरुष का स्खलन पूर्ण रूप से नहीं होता और उसे सेक्स का पूर्ण आनंद नहीं मिलता।

नपुंसकता होने के कई कारण हो सकते हैं जिनको मुख्य रूप से दो भागों में बांटा गया है – फिजिकल और मेंटल (साइकोलॉजिकल)। BBC हेल्थ के अनुसार लगभग 70% नपुंसकता के केसेस फिजिकल कारणों से होते हैं और 30% मेंटल कारणों से।

  • फिजिकल कारण – उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर), हाई कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज, रक्त नलिकाओं का सिकुड़ना, बढ़ती उम्र, सर्जरी, चोट, थाइरोइड प्रॉब्लम्स, किडनी प्रॉब्लम्स, अत्यधिक धूम्रपान, मोटापा, अत्यधिक शराब का सेवन, शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी, प्रोस्टेट कैंसर, बड़ा हुआ प्रोस्टेट और कुछ दवाओं के सेवन से नपुंसकता हो सकती है।
  • साइकोलॉजिकल कारण – चिंता, डिप्रेशन, तनाव और अन्य मेंटल हेल्थ प्रॉब्लम्स।

ऊपर दिए गए कारणों को ठीक करके नपुंसकता को भी ठीक किया जा सकता है। इसके अलावा अपनी जीवनशैली में कुछ बदलाव लाकर और कुछ आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खों को अपनाकर भी नपुंसकता को ठीक किया जा सकता है।

नोट – चूँकि नपुंसकता किसी सीरियस हेल्थ प्रॉब्लम होने का शुरुआती लक्षण भी हो सकता है, इसलिए यह जरूरी है कि आप डॉक्टर से अपनी पूरी जाँच कराएँ और उचित सलाह लें।

नपुंसकता से छुटकारा पाने के लिए आप निचे दिए गए उपचारों को अपना सकते हैं –

अपनी जीवनशैली में बदलाव लायें

डॉक्टर से खुलकर बात करें

नपुंसकता से ग्रसित ज्यादातर पुरुष डॉक्टर से इसके बारे में बात करने से शर्माते है। चूँकि आजकल की लाइफस्टाइल के कारण कई पुरुषों को अपने जीवन में कभी न कभी इस समस्या का सामना करना पड़ता है, लेकिन इसे उम्र बढ़ने का एक “सामान्य” हिस्सा नहीं माना जाता।  हो सकता है कि यह किसी और गंभीर बीमारी का शुरुआती लक्षण हो। इसलिए यदि आप नपुंसकता के शिकार हैं तो सबसे पहले डॉक्टर से उचित जाँच कराएँ और अपनी समस्या के बारे में खुलकर बात करें।

  • अपने डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में पूरी जानकारी दें। यदि आप हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल या हाई शुगर के मरीज हैं तो हो सकता है कि आपके हार्ट की नलिकाएं डैमेज हो गई हों जिसके कारण आप नपुंसकता के शिकार हो गए हैं।
  • दिल की बीमारियाँ और डायबिटीज ऐसी दो मुख्य बीमारियाँ हैं जिनके कारण नपुंसकता हो सकती है। यदि आपको इनमें से कोई एक बीमारी है तो इसका उचित उपचार करके आप नामर्दी से छुटकारा पा सकते हैं।

रोज व्यायाम करें

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा किये गए एक शोध के अनुसार जो पुरुष रोज कम से कम 30 मिनट के लिए व्यायाम और योग करते हैं उनमें व्यायाम न करने वाले पुरुषों के मुकाबले नपुंसकता होने की सम्भावना 41% कम होती है। नियमित व्यायाम करने से रक्त संचार ठीक होता है और शरीर के प्रत्येक अंग को पर्याप्त रक्त मिलता है। संभोग के समय स्खलन को लंबे समय तक रोके रखने से रक्त संचार का ठीक होना अत्यधिक आवश्यक होता है।

loading...

रोज सुबह जल्दी उठें और कम से कम एक घंटे के लिए व्यायाम और योग करें।

अपने मोटापे और वजन को नियंत्रण में रखें

जिन पुरुषों की कमर और पेट के आसपास अत्यधिक चर्बी जमा होती है उनमें नपुंसकता होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। साथ ही, मोटापे के कारण व्यक्ति की सेक्सुअल लाइफ पर भी काफी बुरा असर पड़ता है।

अपने मोटापे और पेट की चर्बी को कम करने के लिए नियमित व्यायाम करें और हेल्थी भोजन का सेवन करें। अपनी डाइट में आप फलों, सब्जियों, साबुत अनाज, लीन प्रोटीन और हेल्थी फैट्स को ज्यादा शामिल करें।

साथ ही, मोटापा कंट्रोल करने के लिए निम्न बातों का भी ध्यान रखें –

  • प्रोसेस्ड फूड्स से दूर रहें। रिफाइंड शुगर और आटे से बने खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।
  • हाई कैलोरी ड्रिंक्स का सेवन न करें, इनकी जगह पानी या शुगर फ्री चाय का सेवन करें।
  • अपने स्नैक्स फास्ट फूड्स और अत्यधिक शुगर युक्त ड्रिंक्स की जगह हेल्थी खाद्य पदार्थ जैसे अखरोट, बादाम, गाजर, सेबफल आदि का सेवन करें।

स्मोकिंग या धूम्रपान छोड़ दें

धूम्रपान शरीर के सर्कुलेटरी सिस्टम में बाधा डालता है और डॉक्टर्स इसे नपुंसकता के सबसे मुख्य कारणों में से एक मानते हैं। इसलिए यदि आपको अपने वीर्य को लंबे समय तक रोके रखने में कठिनाई होती है तो जल्द से जल्द स्मोकिंग करना छोड़ दें।

  • यदि आप एकदम स्मोकिंग की लत को नहीं छोड़ पा रहे हैं, तो आप इसे जितना कम हो सके उतना कम पियें।

शराब से दूर रहें

शराब में अल्कोहल होता है जो इरेक्शन पर काफी बुरा असर डालता है। डॉक्टर्स के मुताबित स्मोकिंग की तरह शराब भी पुरुष को नामर्द बनाने में काफी अहम भूमिका अदा करती है।

अपनी पेल्विक फ्लोर (Pelvic Floor) मसल्स को एक्सरसाइज कराएँ

पेल्विक फ्लोर मसल्स मूत्र मार्ग के पिछले हिस्से में मौजूद होती हैं। उत्तेजना के दौरान यह मसल्स लिंग की रक्त नलिकाओं पर दबाव डालकर रक्त को बाहर निकलने से रोकती हैं जिससे पूर्ण स्खलन होने तक लिंग उत्तेजित रहता है। जो पुरुष अपनी पेल्विक फ्लोर मसल्स को नियमित रूप से एक्सरसाइज कराते हैं उन्हें नपुंसकता का इलाज करने में ज्यादा सफलता मिलती है। इसे लिंग बढ़ाने की एक्सरसाइज के रूप में भी फायदेमंद माना जाता है।

पेल्विक फ्लोर मसल्स को एक्सरसाइज कराने के लिए केगल एक्सरसाइज का इस्तेमाल किया जाता है। इस एक्सरसाइज को करने का तरीका नीचे दिया जा रहा है –

  • पेल्विक मसल्स का मुख्य काम लिंग और गुदा द्वार को बंद करना और खोलना होता है। हम अपनी शौच और पेशाब को रोके रखने के लिए इन्ही मसल्स का इस्तेमाल करते हैं। इसलिए इन मसल्स का पता लगाने का सबसे आसान और कारगर तरीका होता है कि जब भी आपको तेज पेशाब या शौच लगे तो जिन मसल्स के जरिये आप इसे रोके रखते हैं उनका अनुभव करें। ज्यादातर लोग इस तरीके से अपनी पेल्विक मसल्स खोज लेते हैं।
  • इन मसल्स को टाइट और कुछ देर के लिए होल्ड करें। फिर इन्हें ढीला छोड़ दें। ऐसा कम से कम 15-20 बार करें। इस एक्सरसाइज को रोज नियमित रूप से करने पर धीरे-धीरे आपकी वीर्य को रोके रखने की क्षमता बढ़ जाएगी।
  • ध्यान रखें अच्छे रिजल्ट पाने के लिए इस एक्सरसाइज को नियमित करना जरूरी है। साथ ही, इसके फायदे नजर आने में कुछ समय लग सकता है।

चिंता और तनाव पर काबू पायें

अपने जीवन से तनाव को पूरी तरह बाहर निकाल दें

जब बात नपुंसकता की आती है तो इसके सबसे मुख्य कारणों में से एक चिंता या तनाव को माना जाता है। यदि आप अपने तनाव को काबू में करना सीख लें तो आपको अपना सेक्स टाइम बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी। इसलिए अपने जीवन में तनाव लाने वाली सबसे मुख्य वजहों के बारे में अभी सोचें। तनाव पर काबू करने के लिए आप नीचे दी गई स्टेप्स अपना सकते हैं –

  • यदि आप सुबह से शाम तक अपने काम में व्यस्त रहते हैं तो बीच-बीच में अपने आप को थोड़ा आराम दें और 5 मिनट के लिए अपनी सभी चिंताओं को भुलाकर मेडिटेशन करें। अच्छे रिजल्ट पाने के लिए मेडिटेशन करने की उचित ट्रेनिंग लें।
  • रोज रात को सोते समय अपने दिमाग को पूरी तरह से खाली रखें और किसी चीज के बारे में न सोचें। ऐसा करने से आपको अच्छी नींद आयेगी और तनाव दूर होगा।
  • रोज रात को जल्दी सोयें और सुबह जल्दी उठें। सुबह उठकर योग और व्यायाम करें।
  • परिस्थिति चाहे कोई भी हो, खुश रहने के लिए प्रतिबद्ध रहें। क्योंकि सुख और दुःख हमारी सोच पर निर्भर करता है न कि हमारी परिस्थिति पर।

माइंडफुलनेस अपनाएं

क्या सेक्स के दौरान आपका मन इधर उधर की चिंताओं के कारण विचलित हो जाता है जिससे आप सेक्स का पूरा आनंद नहीं उठा पाते। यदि हाँ तो आपको माइंडफुलनेस का अभ्यास करना चाहिए। अपने आप को फिजिकली और मेंटली वर्तमान में रखना और किये जा रहे कार्य में अपना पूरा ध्यान लगाने की प्रक्रिया को माइंडफुलनेस कहते हैं। इसके अभ्यास से आपका तनाव कम होगा और सेक्स में दिल लगेगा। सेक्स के अलावा माइंडफुलनेस आपकी अन्य कार्यों को करने की क्षमता को भी बढ़ाता है।

  • किसी भी कार्य को करते समय अन्य बातों को न सोचें और अपने काम में पूरा ध्यान लगायें। शुरुआत में हो सकता है कि आपको असफलता हासिल हो, लेकिन धीरे-धीरे अभ्यास करने से आप सफल जरूर होंगें। यदि आपने अपने जीवन में माइंडफुलनेस को अपना लिया तो अपने हर कार्य में अपना 100% दे पाएंगे और हमेशा सुखी रहेंगे।
  • सेक्स में अपना मन बनाये रखने के लिए रोज नए-नए प्रैक्टिकल करें। जैसे हर दिन अलग-अलग पोजीशन्स अपनाना, आयल मसाज करना आदि।

अपने साथी के साथ संवाद करें

क्या आपको लगता है कि आपका साथी आपके सेक्सुअल परफॉरमेंस को लेकर खुश नहीं है? यदि आप इस बात से चिंतित रहते हैं कि आप अपने साथी को उसकी इच्छा अनुसार पूर्ण संतुष्ट नहीं कर पाते तो ऐसे में आपके वीर्य का जल्दी स्खलित हो जाना स्वभाविक है। मेडिकल भाषा में इसे “performance anxiety (प्रदर्शन की चिंता)” कहा जाता है।

यदि आपको यह समस्या है तो इसका सबसे अच्छा समाधान है कि आप अपने पार्टनर से खुलकर बात करें। ऐसा करने से आपको अपने पार्टनर की सेक्सुअल डिजायर्स के बारे में पता चलेगा जिससे आप उसको आसानी से पूर्ण संतुष्टि दे पायेंगें और आपकी चिंता दूर होगी।

सेक्स के बारे में और अधिक जानें

यदि आपके मन में सेक्स के प्रति काफी गहरी चिंता और अपराध की भावना है, तो इसके कारण भी आपको नपुंसकता हो सकती है। आप सेक्स के बारे में जितना अधिक जानेंगें, अपने शरीर के प्रति उतना ही अधिक कम्फर्टेबल महसूस करेंगें और अपनी जरूरतों के बारे में अधिक समझ पायेंगे। सेक्स तकनीक, पोजीशन्स, इमोशन्स, शरीर की सेक्सुअल रचना आदि के बारे में पढ़ें।

मेडिसिन्स और थेरेपी का सहारा लें

नपुंसकता की दवाओं का सेवन करें

नपुंसकता की दवाएं वीर्य को लंबे समय तक रोके रखने में काफी मदद करती हैं। यह दवाएं शरीर में नाइट्रिक एसिड के प्रभाव को बढ़ा देती हैं। नाइट्रिक एसिड हमारे शरीर में प्राकृतिक रूप से उत्पादित होती है जिसका मुख्य काम होता है लिंग के रक्त संचार को बढ़ाना, सेक्स के दौरान लिंग को पूरा लम्बा मोटा करना और उसे रिलैक्स।

यदि आप नपुंसकता की दवाओं का सेवन करने के बारे में सोच रहे हैं, तो इन्हें डॉक्टर से पर्चे पर लिखवाकर लें।

  • कृपया ध्यान रखें, सिर्फ कुछ समय के लिए मर्दानगी को बढ़ाने वाली मेडिसिन्स लेने के बजाय डॉक्टर से अपनी नपुंसकता के सही कारणों को जाने और उनकी मेडिसिन्स लें।
  • हो सकता है कुछ मर्दानगी बढ़ाने वाली मेडिसिन्स आपके लिए काम न करें। या यह भी हो सकता है कि यह मेडिसिन्स आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालें। इसलिए इनको लेने से पूर्व डॉक्टर से पूरी जानकारी ले लें।
  • यदि आप अन्य मेडिसिन्स ले रहे हैं या आपको पहले से कोई दिल की बीमारी है तो इन दवाओं का सेवन न करें।

इंजेक्शन या प्रत्यारोपण का सहारा लें

यदि आप दवाओं का सेवन नहीं करना चाहते तो आप इन्हें इंजेक्शन के रूप में भी ले सकते हैं। लिंग में प्रत्यारोपण भी नामर्दी को ठीक करने में फायदेमंद होता है, लेकिन इसके कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं जैसे लिंग में दर्द होना या उसके आसपास फाइबर टिश्यूओं का जमा होना। आपके लिए यह उपचार कितने फायदेमंद होंगे इसकी पूरी जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट थेरेपी लें

यदि आपका डॉक्टर आपकी जाँच करने के बाद यह बताता है कि आपकी नपुंसकता का कारण शरीर में टेस्टोस्टेरोनकी लेवल की कमी है तो इसके इलाज के लिए आप टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट थेरेपी ले सकते हैं। लेकिन, चूँकि इस थेरेपी के कई साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं और यह दिल के मरीजों के लिए उपयुक्त नहीं होती, इसलिए इसे लेने से पहले डॉक्टर से इसकी पूरी जानकारी ले लें।

पेनिस पंप का उपयोग करके देखें

पेनिस पंप एक होलो रबर ट्यूब से बना होता है जिसे स्खलन के समय लिंग पर पहना जाता है। इसके किनारे पर एक रिंग मौजूद होती है जो लिंग में रक्त को रोने रखने में मदद करती है। पेनिस पंप का नियमित इस्तेमाल करने से स्खलन के समय को बढ़ाने में काफी मदद मिलती है। आपके लिए कौन सा पेनिस पंप उपयुक्त होगा इसकी जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.