सेक्स पावर और स्टैमिना बढ़ाने के 45 तरीके

स्टैमिना के कई मतलब हो सकते हैं, लेकिन जब सेक्स की बात आती है, तो अक्सर इसका मतलब होता है कि आप बिस्तर पर कितने समय तक टिक सकते हैं।

पुरुषों के लिए, लिंग-योनि सेक्स का औसत समय लगभग दो से पांच मिनट तक होता है। महिलाओं के लिए, यह समय थोड़ा लंबा है, उन्हें फुल ऑर्गाज्म तक पहुंचने में लगभग 20 मिनट तक का समय लग सकता है।

यदि आप इस बात से संतुष्ट नहीं हैं कि आप कितनी जल्दी स्खलित हो जाते हैं, तो ऐसी कई चीजें हैं जिनके जरिये आप अपनी सहनशक्ति व स्टैमिना को बढ़ाने और अपने समग्र यौन प्रदर्शन में सुधार करने का प्रयास कर सकते हैं।

अधिक जानने के लिए आगे पढ़ते रहें:

हस्तमैथुन सहनशक्ति बढ़ाने में मदद कर सकता है

पहले से निर्मित अत्यधिक यौन तनाव और उत्तेजना को हस्तमैथुन के जरिये मुक्त करके, आपको लिंग-योनि सेक्स में लम्बे समय तक टिकने में मदद मिल सकती है।

यदि आप पुरुष हैं तो निम्न तरीके से हस्तमैथुन करने से आपको मदद मिल सकती है:

  • अक्सर लोग अपने सीधे हाथ से हस्तमैथुन करते हैं। यदि आप भी इनमें से एक हैं, तो अपने उलटे हाथ से हस्तमैथुन करके आप एक अलग अनुभव को महसूस कर सकते हैं।
  • तीव्रता बढ़ाने के लिए अपने कूल्हों को जकड़ें और उनमें जोर दें।
  • हर बार अलग तरीके से लिंग को हिलाकर आप अपने व्यक्तिगत मजे को और ज्यादा बढ़ा सकते हैं।
  • अपने एक हाथ से हस्तमैथुन करते समय, अपने दूसरे हाथ से अंडकोषों के साथ खेलें।
  • तीव्र ऑर्गाज्म के लिए अपने प्रोस्टेट को उत्तेजित करने के तरीके अपनाएं।

यदि आप एक महिला हैं, तो निम्न तरीके से हस्तमैथुन करना मददगार हो सकता है:

  • हस्तमैथुन में अपनी क्लाइटोरिस, योनि और गुदा तीनों को शामिल करें।
  • अपने आनंद को बढ़ाने के लिए कुछ लुब्रीकेंट का इस्तेमाल करें।
  • गर्मी बढ़ाने के लिए अपने कामोत्तेजक हिस्सों को उत्तेजित करें – जैसे गर्दन, निप्पल, स्तन, जाँघ आदि।
  • आनंद बढ़ाने के लिए एक या दो सेक्स टॉय का उपयोग करें।
  • कुछ कामुकता साहित्य देखने, सुनने या पढ़ने पर विचार करें।

एक्सरसाइज ताकत बढ़ाने में मदद कर सकती है

यदि आप अपना स्टैमिना बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको अपनी ताकत का निर्माण करना होगा। एक मजबूत शरीर की सहनशक्ति अधिक होती है, जिससे आपको लम्बे समय तक सेक्स करने में भी मदद मिल सकती है।

बाइसेप्स

मजबूत बाइसेप्स का मतलब है कि आप कोई भी चीज उठाते, खींचते, उछालते और फेंकते समय अधिक वजन संभाल सकते हैं।

इसकी एक्सरसाइज निम्न हैं:

1. बाइसेप कर्ल्स

वजन उठाने का प्रशिक्षण।

बाइसेप कर्ल्स

2. चिन अप

अपने दोनों हाथों के जरिये किसी पाइप पर लटककर शरीर के वजन को ऊपर उठाना।

चिन अप

3. बेंट-ओवर रो

आगे की तरफ झुककर वजन को ऊपर उठाये रखना।

बेंट-ओवर रो

ट्राइसेप्स

मजबूत ट्राइसेप्स न केवल आपकी किसी चीज को आगे धक्का देने की क्षमता को बढ़ाते हैं, बल्कि यह आपके ऊपरी शरीर की ताकत का भी निर्माण करते हैं।

इसकी एक्सरसाइज निम्न हैं:

1. बेंच प्रेस या चेस्ट प्रेस

बेंच प्रेस, या चेस्ट प्रेस, एक अपर-बॉडी वेट ट्रेनिंग एक्सरसाइज है, जिसमें आप बेंच पर लेटकर वजन को ऊपर की ओर उठाते हैं।

बेंच प्रेस

2. ट्राइसेप्स एक्सटेंशन

इस एक्सरसाइज में अपने एक या दोनों हाथों में वजन उठाकर सिर के पीछे ऊपर नीचे करना होता है।

ट्राइसेप्स एक्सटेंशन

3. ट्राइसेप्स पुल-डाउन और पुश-डाउन

ट्राइसेप्स पुल-डाउन में वजन से टंगे हैंडल को बैठकर दोनों हाथों से नीचे खींचा जाता है।

ट्राइसेप्स पुल-डाउन

ट्राइसेप्स पुश-डाउन में वजन से टंगे हैंडल को खड़े होकर दोनों हाथों से नीचे धकेला जाता है।

ट्राइसेप्स पुश-डाउन
 
 
 
 

पेक्टोरल मांसपेशी

छाती में मौजूद मांसपेशियों को पेक्टोरल कहा जाता है। आप जो कुछ भी करते हैं उसके लिए आप अपनी पेक्टोरल मांसपेशियों का उपयोग करते हैं – जैसे एक दरवाजा खोलने से लेकर एक गिलास उठाने तक।

जब पेक्टोरल मांसपेशियाँ मजबूत होती हैं, तो आपका शरीर भी समग्र रूप से मजबूत होता है।

इसकी एक्सरसाइज निम्न हैं:

1. चेस्ट डिप्स

दो पोल्स पर अपने हाथों के जरिये शरीर को झुलाकर, ऊपर-नीचे होने की एक्सरसाइज को डिप्स कहा जाता है। जब आप अपने दोनों पैरों को ऊपर मोड़कर और छाती को आगे की तरफ बाहर निकालकर ऊपर-नीचे होते हैं, तो इसे चेस्ट डिप्स कहा जाता है।

चेस्ट डिप

2. पुश अप

पुश अप काफी सरल और प्रचलित एक्सरसाइज है, जिसे हिंदी में दंड मारना भी कहा जाता है। इस एक्सरसाइज में आपको जमीन पर उलटे लेटकर और हाथों के बल अपने ऊपरी शरीर को ऊपर-नीचे करना होता है।

पुश अप

पेट की एक्सरसाइज

जब आपके पेट की मांसपेशियाँ, जिन्हें एब्स कहा जाता है, मजबूत होती हैं, तो आपके पूरे शरीर का ढाँचा भी मजबूत होता है। और जब आपके शरीर का ढाँचा मजबूत होता है, तो आप अधिक संतुलित होते हैं और सेक्स में ज्यादा मजबूती से कूल्हों को आगे पीछे कर सकते हैं।

इसकी एक्सरसाइज निम्न हैं:

1. सिट अप

सिट-अप एक्सरसाइज में सबसे पहले आपको अपने पीठ के बल सीधा लेट जाना होता है। फिर अपने दोनों हाथों को अपने सिर के पीछे रखकर, अपने ऊपर के पूरे शरीर को पेट के बल ऊपर उठाना होता है। इससे आपकी एब्स पर डायरेक्ट प्रेशर पढ़ता है और वह मजबूत होने लगती हैं।

सिट अप

2. प्लैंक

प्लैंक एक्सरसाइज में आपको सबसे पहले जमीन पर उल्टा लेट जाना होता है। फिर आपको अपनी कोहनियों या हथेलियों के बल छाती को ऊपर उठाये रखना होता है। इस दौरान आपका शरीर पूरा सीधा होना चाहिए। आप इस मुद्रा में जितनी देर रहेंगे, आपकी एब्स उतनी ही ज्यादा मजबूत होंगी।

प्लैंक एक्सरसाइज

3. हाई नीज

हाई नीज एक्सरसाइज में आपको एक जगह सीधा खड़ा होकर तेजी से अपने घुटनों को एक के बाद एक कमर तक ऊपर उठाना होता है। यह एक हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज है, जिसमें आपकी दिल की धड़कन तेज हो जाएगी और आपको पसीना आएगा।

हाई नीज एक्सरसाइज

लोअर बैक

पीठ के निचले हिस्से को लोअर बैक कहा जाता है। एक मजबूत लोअर बैक आपकी रीढ़ की हड्डी को स्थिर रखने और सपोर्ट करने में मददगार होती है, साथ ही यह आपके ढाँचे को मजबूत करने में भी मदद करती है।

इसकी एक्सरसाइज निम्न हैं:

1. ब्रिड्जस

आपके नितंबों में ग्लूटस मैक्सिमस नामक मांशपेशी होती है, जो शरीर की सबसे मजबूत माँसपेशियों में से एक है। सेक्स के दौरान यह मांसपेशी ही आपके लिंग को आगे-पीछे या ऊपर-नीचे करने में मदद करती है। इसलिए बेहतर सेक्स के लिए इस मांसपेशी का मजबूत होना महत्वपूर्ण है।

इस मांसपेशी को मजबूत बनाने की एक्सरसाइज को ब्रिड्जस कहा जाता है।

  • अपने पैरों को फर्श पर सीधे और थोड़े खुले करके जमीन पर लेट जाएं। अपने हाथों को भी कमर के बगल में सीधा रखें।
  • अपने पैरों के तलवों और हाथों को फर्श पर दबाते हुए धीरे-धीरे अपने नितंबों को जमीन से ऊपर उठायें। इस दौरान अपने कंधों को फर्श पर ही रखें। इस मुद्रा को 10 से 15 सेकंड के लिए होल्ड करें।
  • अब धीरे-धीरे वापिस नीचे आ जाएँ।
  • इस प्रक्रिया को एक बार में 15 बार दोहरायें।
ब्रिड्जस एक्सरसाइज

2. लाइंग लेटरल लेग रेज

कूल्हों के बगल में हिप एब्डक्टर मांसपेशियाँ होती हैं, जो आपके पैरों को दायें-बायें तरफ ऊपर उठाने में मदद करती हैं। जब आप एक पैर पर खड़े होते हैं या सेक्स कर रहे होते हैं, तो यह आपकी पेल्विक मांसपेशियों को सहारा देने में भी मदद करती हैं। इसलिए सेक्स को बेहतर बनाने के लिए इन मांसपेशियों का मजबूत होना भी आवश्यक है।

हिप एब्डक्टर मांसपेशियों को मजबूत बनाने की एक्सरसाइज को लाइंग लेटरल लेग रेज कहा जाता है।

  • फर्स पर शरीर को एक तरफ करके लेट जाएँ। इस दौरान अपने निचले पैर को जमीन पर पूरा सटाकर रखें।
  • अपने ऊपरी पैर को ऊपर उठाएं। इस दौरान आपके शरीर का बाकी का हिस्सा नहीं हिलना चाहिए।
  • इसे 2 सेकंड के लिए होल्ड करके वापिस नीचे ले आएं।
  • इस एक्सरसाइज को हर एक पैर पर 10 बार करें।
लाइंग लेटरल लेग रेज

3. सुपरमैन

अपनी पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाने वाली एक्सरसाइज को सुपरमैन एक्सरसाइज कहा जाता है।

पीठ की मांसपेशियाँ आपको एक सीधी स्थिति बनाए रखने में मदद करती हैं, आपकी रीढ़ व पेल्विक की हड्डियों को सपोर्ट देती हैं, और आपकी पीठ को लचीला बनाती हैं। यह सभी चीजें बेहतर सेक्स के लिए महत्वपूर्ण हैं।

  • फर्स पर पेट के बल लेट जायें और अपने हाथों को सिर के सामने सीधा व अपने पैरों को सपाट रखें।
  • अपने हाथों और पैरों को जमीन से लगभग 6 इंच ऊपर उठाएं, या जब तक कि आपको अपनी पीठ के निचले हिस्से में संकुचन महसूस न होने लगे।
  • अब अपने नितम्भों व छाती की मांसपेशियों को भी ऊपर की तरफ उठायें, जिससे आपका पूरा शरीर नाभि के बल आ जाये। इस दौरान गर्दन में खिंचाव से बचने के लिए हमेशा नीचे फर्स की तरफ देखते रहें।
  • इस स्थिति को 2 सेकंड के लिए होल्ड करें और फिर वापिस नीचे आ जाएँ।
  • इस एक्सरसाइज को एक बार में 10 बार करें।
सुपरमैन एक्सरसाइज

पेल्विक फ्लोर

पेल्विक फ्लोर मांसपेशियाँ लिंग (या योनि) के पीछे मौजूद होती हैं, जिनका मुख्य काम होता है, जननांगों को नियंत्रित करना। इसका अर्थ है – यदि आप अपनी यौन सहनशक्ति और स्टैमिना को बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको मजबूत और लचीली पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों का निर्माण करने की आवश्यकता होगी।

पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों को मजबूत बनाने की एक्सरसाइज को केगेल एक्सरसाइज कहा जाता है।

एक्सरसाइज करने का तरीका:

  • सबसे पहले आपको अपनी पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों का पता लगाना है।
  • इन माँसपेशियों का पता लगाने का सबसे आसान तरीका होता है, जब आपको तेज पेशाब लगे, तो जिन माँसपेशियों के जरिये आप इसे रोके रखते हैं, उनका अनुभव करें, यही आपकी पेल्विक फ्लोर माँसपेशियाँ है।
  • अब आपको इन मांसपेशियों को कॉन्ट्रैक्ट करने (सिकोड़कर ढीला छोड़ने) की प्रैक्टिस करना है।
  • सबसे पहले, आप इन मांसपेशियों को सिकोड़ें और फिर 5 सेकंड्स के लिए होल्ड करें।
  • अब इन्हें ढीला छोड़ दें और 2 सेकंड का रेस्ट लें। और फिर से इन्हें सिकोड़ें।
  • इस प्रक्रिया को रोज कम से कम 20-30 मिनट तक रिपीट करते रहें।

एक्सरसाइज से लचीलेपन में भी सुधार हो सकता है

जब आपकी मांसपेशियां ढीली और लचीली होती हैं, तो आपके पास गति की एक पूरी श्रृंखला होती है, जिसका अर्थ है कि आप सेक्स में और भी बहुत कुछ कर सकते हैं।

लचीलापन बढ़ाने की कुछ एक्सरसाइज निम्न हैं:

स्टैंडिंग हैमस्ट्रिंग स्ट्रेच

यह एक्सरसाइज गर्दन, पीठ, नितम्भों, जांघ (हैमस्ट्रिंग मांसपेशी) और पैर (पिंडली की मांसपेशी) को लचीला बनाने में मदद करती है।

  • अपने पैरों को कूल्हों की चौड़ाई तक फैलाकर खड़े हो जाएँ। इस दौरान घुटने थोड़े मुड़े हुए हों, और भुजाएँ आपके बाजू में हों।
  • अब सांस बाहर छोड़ते हुए कूल्हों के बल आगे की ओर झुकें।
  • अपने सिर को फर्श की ओर नीचे करें और अपने हाथों से पैरों के अंगूठे टच करें। इस दौरान अपने सिर, गर्दन और कंधों को ढीला छोड़ दें।
  • इस मुद्रा में कम से कम 45 सेकंड के लिए रहें।
  • फिर, ऊपर उठकर दोबारा अपनी सामान्य स्थिति में आ जाएँ।
स्टैंडिंग हैमस्ट्रिंग स्ट्रेच एक्सरसाइज

रिक्लाइनिंग बाउंड एंगल पोज

भीतरी जांघ, कूल्हों और कमर को लचीला बनाने में फायदेमंद है।

  • पीठ के बल लेटे हुए अपने पैरों के तलवों को एक-दूसरे से जोड़कर जननांगों की तरफ लाएं।
  • इस दौरान अपने तलवों को फर्स से सटा रहने दें।
  • इस मुद्रा को 30 सेकंड के लिए होल्ड करें।
रिक्लाइनिंग बाउंड एंगल पोज एक्सरसाइज

लंज विथ स्पाइनल ट्विस्ट

जननांगों के आसपास की मांसपेशियों, जांघों और कमर को लचीला बनाने में फायदेमंद।

  • सीधे खड़े होते हुए अपने बायें पैर को आगे की तरफ करके और घुटने को मोड़ते हुए आगे की तरफ झुकें। इस दौरान आपका दायां पैर पीछे की तरफ सीधा होना चाहिए।
  • अब अपने दाहिने हाथ को फर्श पर रखें।
  • अपने ऊपरी शरीर को बाईं ओर मोड़ें और बाएँ हाथ को छत की ओर फैलाएँ।
  • इस मुद्रा में कम से कम 30 सेकंड के लिए रहें, और फिर दाईं ओर से दोहराएं।
लंज विथ स्पाइनल ट्विस्ट एक्सरसाइज

ट्राइसेप्स स्ट्रेच

यह एक्सरसाइज गर्दन, कंधे, पीठ और ट्राइसेप्स मांसपेशियों को लचीला बनाने में फायदेमंद है।

  • सीधे खड़े होते हुए अपनी बाहों को ऊपर की ओर फैलाएं।
  • अपनी दाहिनी कोहनी को मोड़ें, और अपनी पीठ के ऊपरी मध्य भाग को छुयें।
  • अपने बाएं हाथ से दाहिनी कोहनी के ठीक नीचे पकड़ें, और उसे धीरे से नीचे खींचें।
  • इस मुद्रा को लगभग 15 से 30 सेकंड तक होल्ड करें, और फिर बाएं हाथ से दोहराएं।
ट्राइसेप्स स्ट्रेच एक्सरसाइज

अपनी सांस को स्थिर करने और जीभ को मजबूत बनाने के लिए एक्सरसाइज

अपनी सांस को नियंत्रित करने से आपकी मांसपेशियों को अधिक ऑक्सीजन युक्त रक्त देने में मदद मिलती है। इससे दिल की धड़कन कम हो सकती है और इसके परिणामस्वरूप आपको बेहतर सेक्स परफॉरमेंस देने में मदद मिल सकती है।

अपनी जीभ को मजबूत करने से भी आपकी सांस लेने की शक्ति बेहतर होती है, और साथ ही आपकी ओरल सेक्स क्षमता में बढ़ोतरी हो सकती है।

जीभ को मजबूत बनाने के लिए, निम्न एक्सरसाइज आजमाएं:

  • जीभ पुल-बैक। अपनी जीभ को पूरा सीधा बाहर निकालें। फिर इसे अपने मुंह में जितना हो सके उतना अंदर खींचें। इस पोजीशन को 2 सेकेंड तक होल्ड करे। 5 बार दोहराएं।
  • जीभ पुश-अप्स। अपनी जीभ की नोक को ठीक निचले दाँतों के पीछे जितना हो सके उतना दबाएँ। 5 से 10 बार दोहराएं।

समग्र परफॉरमेंस बढ़ाने के लिए प्रमुख पोषक तत्व

यदि आप बिस्तर में अपना प्रदर्शन सुधारना चाहते हैं, तो आपको इन प्रमुख पोषक तत्वों की पर्याप्त मात्रा मिलना आवश्यक है।

सभी के लिए

1. कैप्साइसिन

कैप्साइसिन एक कंपाउंड होता है, जो ज्यादातर मिर्च में पाया जाता है। यह आपमें धीरज और सहनशक्ति बढ़ाने में काफी फायदेमंद होता है। यह शरीर की रिकवरी प्रक्रिया को भी तेज करता है, जिसका मतलब है एक बार स्खलित होने के बाद आपका रिफ्रैक्टरी पीरियड कम होगा और आपको दोबारा उत्तेजित होने में कम समय लगेगा।

कैप्साइसिन से भरपूर खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • मिर्च, जिसमें लाल, काली, हरी और शिमला मिर्च शामिल हैं
  • अदरक

2. पोटेशियम

शरीर के सबसे महत्वपूर्ण इलेक्ट्रोलाइट्स में से एक होने के कारण, पोटेशियम आपकी मांसपेशियों और कोशिकाओं को हाइड्रेटेड रखता है, रिकवरी तेज करता है, और आपके मेटाबोलिज्म को बढ़ावा देता है। आपकी सहनशक्ति और स्टैमिना को बनाये रखने के लिए यह सभी चीजें महत्वपूर्ण हैं।

पोटेशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • केला
  • खरबूजा
  • पालक
  • ब्रोकोली
  • आलू
  • टमाटर
  • गाजर
  • कम वसा वाला दूध या दही

3. काम्प्लेक्स कार्बोहायड्रेट

पास्ता और ब्रेड में पाए जाने वाले सिंपल कार्बोहायड्रेट आपके स्टैमिना को बहुत जल्दी खत्म कर सकते हैं। लेकिन काम्प्लेक्स कार्बोहायड्रेट ठीक इसके विपरीत करते हैं: यह आपके शरीर में लंबे समय तक चलने वाली ऊर्जा को बढ़ावा देने में मदद करते हैं।

काम्प्लेक्स कार्बोहायड्रेट से युक्त खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • ओटमील (दलिया)
  • मीठे आलू
  • साबुत गेहूँ की ब्रेड
  • ब्राउन राइस और चावल
  • जौ, बुलगुर, और अन्य साबुत अनाज
  • मक्का
  • मटर और सूखे सेम

4. प्रोटीन

प्रोटीन को कार्बोहायड्रेट की तुलना में टूटने में अधिक समय लगता है, जिससे आपके शरीर को ऊर्जा का एक लंबे समय तक चलने वाला स्रोत मिलता है।

प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • नट्स
  • टोफू
  • अंडे
  • मछली और लीन मीट
  • दही, मक्खन और दूध

5. बी विटामिन

बी विटामिन – खासतौर से बी-1 से लेकर बी-5, और बी-12 – आपके सेक्स हार्मोन के स्तर और कार्य को नियंत्रित करते हैं, जो आपकी कामेच्छा और प्रदर्शन को बढ़ावा देने में मदद करता है।

विटामिन-बी युक्त खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • मछली और लीन मीट
  • अंडे
  • मूंगफली का मक्खन (पीनट बटर)
  • एवोकाडो
  • गढ़वाले और समृद्ध अनाज
  • दूध और डेरी प्रोडक्ट्स
  • हरी पत्तेदार सब्जियाँ

6. ओमेगा-3 फैटी एसिड्स

ओमेगा-3 फैटी एसिड्स शरीर के हर कार्य लिए आवश्यक होती हैं। यह आपके सेक्स हार्मोन को संतुलित करने में भी मदद करती हैं, जिससे आपकी कामेच्छा और सहनशक्ति को अच्छा बढ़ावा मिलता है।

ओमेगा-3 फैटी एसिड्स युक्त खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • अलसी, चिया बीज, और भांग
  • पालक
  • अखरोट
  • शंबुक
  • टूना और अन्य ऑयली फिश

विशेष रूप से पुरुषों के लिए

1. एल-सिट्रूलाइन

शोध से पता चला है कि एल-सिट्रूलाइन, जो कि एक स्वाभाविक रूप से पाया जाने वाला एमिनो एसिड है, आपकी ताकत और सहनशक्ति बढ़ा सकता है। यह आपके लिंग को लम्बे समय तक खड़ा बनाए रखने में भी मदद कर सकता है।

एल-सिट्रूलाइन युक्त खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • तरबूज
  • प्याज और लहसुन
  • फलियां और नट्स
  • सैल्मन मछली
  • डार्क चॉकलेट

2. एल-आर्जिनाइन

शरीर एल-सिट्रूलाइन को एल-आर्जिनाइन में बदल देता है। एल-आर्जिनाइन भी एक एमिनो एसिड है जो लिंग में रक्त संचार बढ़ाती है और प्रोटीन का निर्माण करती है।

एल-आर्जिनाइन से युक्त खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • मछली और लाल मांस
  • सोया प्रोडक्ट्स
  • साबुत अनाज
  • फलियां
  • दूध, दही और अन्य डेरी प्रोडक्ट्स

3. नाइट्रेट्स

नाइट्रेट्स आपकी मांसपेशियों द्वारा ऑक्सीजन उपयोग करने के तरीके में सुधार करते हैं, जिससे आपका समस्त परफॉरमेंस बढ़ाने में मदद मिलती है।

नाइट्रेट्स युक्त खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • पत्तेदार साग
  • चुकंदर और उसका रस
  • गाजर
  • बैंगन
  • अजवायन

4. मैग्नीशियम

मैग्नीशियम एक आवश्यक पोषक तत्व है, जो शरीर की ऊर्जा से लेकर दिमाग के कामकाज तक हर चीज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए जब आपके शरीर में मैग्नीशियम का स्तर कम होता है, तो आपका स्टैमिना भी कम हो जाता है।

मैग्नीशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • चोकरयुक्त गेहूं
  • पालक और अन्य गहरे हरे पत्तेदार साग
  • काजू, बादाम, और मूंगफली
  • काली फलियां
  • हरे सोयाबीन से बनी सब्जी

विशेष रूप से महिलाओं के लिए

1. फोलिक एसिड

फोलिक एसिड नई कोशिकाओं के विकास और वृद्धि को उत्तेजित करती है, जिससे थकान से लड़ने और सहनशक्ति को बढ़ाने में मदद मिलती है।

फोलिक एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • एवोकाडो
  • मसूर की दाल
  • सूखे सेम, मटर, और नट
  • ब्रोकोली, पालक, शतावरी, और अन्य गहरे हरे रंग की सब्जियां
  • खट्टे फल

2. कैल्शियम

कैल्शियम हड्डियों को मजबूत और घना रखता है, जिससे आपकी कोशिकाओं के ठीक से काम करने और ऊर्जा को बनाए रखने में मदद मिलती है।

कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • मलाई निकाला हुआ दूध
  • पनीर
  • कम वसा वाला दही
  • सैल्मन, सार्डिन, और अन्य खाने योग्य हड्डियों वाली मछलियां

3. विटामिन डी

विटामिन डी हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत बनाता है, आपके मूड को बढ़ाता है, और आपके वजन को नियंत्रण में रखने में मदद करता है। आपकी सहनशक्ति को बढ़ाने में यह सभी घटक आवश्यक हैं।

विटामिन डी के स्त्रोत निम्न हैं:

  • सूरज की रौशनी
  • सैल्मन और सार्डिन मछली
  • अंडे की जर्दी
  • श्रिम्प
  • दूध, अनाज, दही, और संतरे का रस

4. आयरन

आयरन ऊर्जा और स्वस्थ मेटाबोलिज्म को बनाए रखने के लिए एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है, जिससे स्टैमिना बढ़ाने में भी मदद मिलती है।

आयरन युक्त खाद्य पदार्थ निम्न हैं:

  • मछली और लाल मांस
  • साबुत अनाज
  • पालक और अन्य पत्तेदार साग
  • दाल और फलियां
 
 
 
 

समग्र परफॉरमेंस बढ़ाने वाली हर्बल सप्लीमेंट

क्या आप अपने सेक्स परफॉरमेंस और स्टैमिना में सुधार करने के लिए एक प्राकृतिक तरीका अपना चाहते हैं? यदि हाँ, तो निम्न हर्बल सप्लीमेंट मददगार हो सकते हैं:

सभी के लिए

डामियाना (Damiana): यह मेक्सिको में छोटी झाड़ियों के रूप में पाई जाने वाली एक जड़ी बूटी है, जिसकी पत्तियों का उपयोग हर्बल दवा में और मदिरा के उत्पादन में किया जाता है। यह अपने कामोत्तेजक गुणों के लिए काफी प्रतिष्ठित है। 2008 में अमेरिका में हुए एक शोध के अनुसार, डामियाना व्यक्ति की कामेच्छा और सहनशक्ति बढ़ाने में मददगार हो सकती है।

ग्वाराना (Guarana): यह एक ब्राजीलियाई झाड़ी के बीज से तैयार पदार्थ होता है, जिसका उपयोग एक टॉनिक या कामोत्तेजक के रूप में किया जाता है। 2015 में हुए एक शोध के अनुसार ग्वाराना में मौजूद कैफीन व्यक्ति की ऊर्जा और कामेच्छा बढ़ाने में मदद करता है।

माका (Maca): पेरू के इस अत्यधिक पौष्टिक पौधे को सेक्स ड्राइव बढ़ाने वाला माना जाता है।

विशेष रूप से पुरुषों के लिए

जिनसेंग (Ginseng): कोरिया में हुए एक शोध के अनुसार धीमी गति से बढ़ने वाला यह छोटा पौधा नामर्दी और लिंग खड़ा न होने की समस्या को ठीक करता है।

कैटुआबा (Catuaba): ब्राजील में इस छोटे से पेड़ को कामोत्तेजक माना जाता है। यह स्तंभन दोष और नामर्दी के इलाज में भी मदद कर सकता है।

लाइसियम (Lycium): इसे गोजी बेर के नाम से भी जाना जाता है। 2016 में हुए एक शोध के अनुसार यह फल टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाकर सेक्स परफॉरमेंस सुधारने में मदद करता है।

विशेष रूप से महिलाओं के लिए

गिंको बाइलोबा (Ginkgo biloba): इस पूर्व-एशियाई पौधे से बना अर्क, आपकी सेक्स लाइफ को रोमांचक, ऊर्जावान, और यौन रूप से आकर्षक बना सकता है। साथ ही, यह दिमाग की शक्ति और ऊर्जा को भी बढ़ा सकता है।गिंको बाइलोबाजिन्को बाइलोबा (Ginkgo biloba): इस पूर्व-एशियाई पौधे से बना अर्क, आपकी सेक्स लाइफ को रोमांचक, ऊर्जावान, और यौन रूप से आकर्षक बना सकता है। साथ ही, यह दिमाग की शक्ति और ऊर्जा को भी बढ़ा सकता है।

अश्वगंधा: भारत में पाई जाने वाली यह सदाबहार जड़ी बूटी सेक्स हार्मोन को नियंत्रित करके कामेच्छा और सहनशक्ति में सुधार करती है।

ऊपर दी गई सभी औषधियों के हर्बल सप्लीमेंट बाजार में उपलब्ध हैं, जिन्हें आप किसी भी लोकल स्टोर से या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

अन्य टिप्स

एक्सरसाइज करना, अपने आहार में बदलाव करना और हर्बल सप्लीमेंट्स लेना, यह सभी आपके स्टैमिना और सेक्स परफॉरमेंस बढ़ाने के काफी कारगर तरीके हैं। लेकिन इनके अलावा भी बहुत सी चीजें हैं जो अतिरिक्त मदद कर सकती हैं, जैसे:

शराब का सेवन कम करें। शराब हर व्यक्ति को अलग तरह से प्रभावित करती है, लेकिन कुल मिलाकर, सेक्स से पहले बहुत अधिक शराब पीना आपकी संवेदनाओं को कम कर सकता है और आपके लिए अधिक समय तक उत्तेजित रहना कठिन हो सकता है।

फोरप्ले भी जरूरी है। सेक्स केवल लिंग-योनि का मिलन नहीं होता। सच तो यह है ज्यादातर लिंग-योनि सेक्स केवल 2-5 मिनट तक ही चलता है। इसलिए लिंग-योनि सेक्स में विस्फोट करने से पहले, आग की लपटों को धीरे-धीरे फोरप्ले के जरिये बुझाएं। सेक्स से पहले किये जाने वाली किसिंग, ब्लो-जॉब आदि को फोरप्ले कहा जाता है।

चिकनाई: चिकनाई सेक्स को और अधिक सुखद बना सकती है, और घर्षण को कम करके आपको जल्दी स्खलित होने से रोक सकती है। आजकल तो बाजार में कई ऐसे लुब्रीकेंट उपलब्ध हैं, जो लिंग-योनि में हलकी सुन्नता पैदा करके सेक्स को लम्बा खींचने में मदद कर सकते हैं।

जल्दबाजी न करें: अक्सर सेक्स में जल्दबाजी ही व्यक्ति के जल्दी स्खलित हो जाने का कारण बनती है। इसलिए धीरे-धीरे आगे बड़े और हर एक पल का पूरा आनंद लें।

कोकरिंग के इस्तेमाल से शीघ्रपतन को रोकने में मदद मिल सकती है। कोकरिंग एक रबड़ का छल्ला होता है, जिसे लिंग के आधार पर पहना जाता है। यह लिंग से रक्त को बाहर निकलने से रोकता है, जिससे वह ज्यादा देर तक खड़ा रहता है और पहले से अधिक आनंद प्रदान करता है।

डॉक्टर से कब मिलें?

आपके सेक्स परफॉरमेंस और सहनशक्ति का कभी-कभार सुस्त होना सामान्य है। लेकिन अगर यह लगातार कम बना रहता है या अन्य लक्षणों के साथ होता है, तो यह आपमें एक अंतर्निहित समस्या का संकेत हो सकता है।

डॉक्टर से संपर्क करें यदि आप:

डॉक्टर आपके लक्षणों का आंकलन करके उचित उपचार प्रदान करने में काफी मदद कर सकता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.