सेक्स टाइम बढ़ाने वाली 7 देसी दवाओं और गोलियों के नाम

अपनी सेक्स टाइमिंग को बढ़ावा देने के तरीकों की तलाश करना असामान्य नहीं है।

हालांकि वियाग्रा जैसी दवाएं पुरुषों के लिंग को लम्बे समय तक खड़ा बनाये रखने में मदद कर सकती हैं, लेकिन बहुत से लोग प्राकृतिक दवा और गोली चुनना पसंद करते हैं जो आसानी से उपलब्ध हों, प्राकृतिक हो और जिनके कम दुष्प्रभाव होने की संभावना हो।

दिलचस्प बात यह है कि शोधों से पता चला है कि कई देसी गोली और जड़ी बूटियाँ आपकी कामेच्छा को बढ़ाने में मदद कर सकती हैं – और स्तंभन दोष का इलाज करके आपको बिस्तर में लम्बे समय तक टिकने में मददगार हो सकती हैं।

यहां पर 7 देसी दवाओं के नाम दिए जा रहे हैं, जो आपकी सेक्स टाइमिंग बढ़ाने में मददगार साबित हो सकती हैं:

1. गोखरू

गोखरू का पौधा, जिसे आम भाषा में पंचर बेल और मेडिकल भाषा में ट्रिब्युलस (tribulus) कहा जाता है, प्राचीन भारतीय आयुर्वेद और चीनी औषधियों में काफी प्रचलित है। (स्रोत)

यह एथलीटों, जिम करने वालों और स्पोर्ट्स खेलने वाले लोगों में व्यापक रूप से प्रचलित है, क्योंकि यह आमतौर पर टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ावा देने और स्टैमिना बढ़ाने में मददगार होता है।

चूँकि मानव शोधों में यह नहीं दिखा है कि गोखरू टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ा सकता है या नहीं, लेकिन यह पुरुषों और महिलाओं दोनों में कामेच्छा और टाइमिंग को बढ़ाता हुआ प्रतीत होता है।

2014 में, कम यौन सुख की रिपोर्ट करने वाली महिलाओं में हुए 90-दिवसीय एक शोध में, रोज 750 मिलीग्राम गोखरू लेने से 88% महिलाओं की यौन संतुष्टि में वृद्धि हुई।

इसके अलावा, 2015 में पुरुषों पर 2 महीने के लिए हुए एक शोध से पता चला है, कि रोजाना 750-1,500 मिलीग्राम गोखरू लेने से, 79% पुरुषों की यौन इच्छा और पूर्ण सेक्स संतुष्टि प्राप्त करने की क्षमता में सुधार हुआ।

हालांकि, स्तंभन दोष वाले पुरुषों में हुए शोधों के मिश्रित परिणाम मिले हैं।

एक शोध में पाया गया कि प्रतिदिन 800 मिलीग्राम गोखरू के सप्लीमेंट को 30 दिनों तक लेने से स्तंभन दोष का इलाज नहीं हुआ। इसके विपरीत, एक अन्य शोध में, 90 दिनों तक प्रतिदिन 1,500 मिलीग्राम गोखरू लेने से पुरुषों के लिंग खड़ा करने की क्षमता और कामेच्छा में सुधार आया।

गोखरू पुरुषों और महिलाओं में कामेच्छा और सेक्स टाइमिंग बढ़ाने में कुछ हद तक मदद कर सकता है। लेकिन इसके स्तंभन दोष के इलाज की क्षमता के संबंध में परिणाम असंगत हैं, जिनपर अधिक शोध होने की आवश्यकता है।

2. माका

माका एक जड़ होता है, जिसको प्राचीन समय से ही प्रजनन क्षमता और सेक्स टाइमिंग बढ़ाने में उपयोग किया जाता आ रहा है। बाजार में यह पाउडर, कैप्सूल और तरल अर्क सहित विभिन्न रूपों में उपलब्ध होता है।

2002 में हुए 12 सप्ताह के एक शोध में पाया गया कि 42% पुरुष जिन्होंने प्रतिदिन 1,500-3,000 मिलीग्राम माका लिया, उनमें यौन इच्छा में वृद्धि दर्ज की गई।

इसके अलावा, 2017 की एक शोध समीक्षा के अनुसार, माका पुरुषों में यौन इच्छा और सेक्स टाइमिंग बढ़ाने के लिए एक प्राकृतिक दवा के रूप में कार्य कर सकता है। यह स्तंभन दोष के इलाज में भी मदद कर सकता है, लेकिन इसे साबित करने के लिए अभी अधिक शोधों की आवश्यकता है।

इसके अतिरिक्त, कुछ सबूत बताते हैं कि कुछ एंटीडिप्रेसेंट दवाओं के साइड इफेक्ट के रूप में होने वाली कामेच्छा और सेक्स टाइमिंग में कमी से निपटने में माका मदद कर सकता है।

अधिकांश शोधों में पाया गया कि कम से कम 2-12 सप्ताह तक रोजाना 1.5-3.5 ग्राम माका लेना, कामेच्छा बढ़ाने के लिए पर्याप्त होता है। (स्रोत 1, स्रोत 2)

 
 
 
 

3. लाल जिनसेंग

जिनसेंग – विशेष रूप से लाल जिनसेंग – यौन क्रिया में सुधार कर सकता है और सेक्स टाइमिंग बढ़ा सकता है।

वास्तव में, 10 शोधों के एक रिव्यु में पाया गया कि लाल जिनसेंग रजोनिवृत्ति महिलाओं में यौन उत्तेजना में सुधार करने में प्रभावी था।

इसके अलावा, लाल जिनसेंग नाइट्रिक ऑक्साइड नामक यौगिक के उत्पादन को बढ़ा सकता है, जो रक्त संचार में सहायता करता है और लिंग की मांसपेशियों को रिलैक्स करने में मदद करता है। साथ ही, शोधों से यह भी पता चला है कि यह जड़ी बूटी एक प्लेसिबो (नकली दवा) की तुलना में यौन क्रिया को बढ़ाने में काफी अधिक प्रभावी है (शोध 1, शोध 2)।

हालांकि, अन्य शोधों में कामेच्छा या यौन क्रिया पर लाल जिनसेंग का कोई प्रभाव नहीं पाया गया है, और कुछ विशेषज्ञ इन शोधों की ताकत पर सवाल उठाते हैं (शोध 1, शोध 2, शोध 3)।

इसलिए, अभी और अधिक शोधों की जरूरत है।

आपको यह जानना भी महत्वपूर्ण है कि आमतौर पर ज्यादातर लोग लाल जिनसेंग को अच्छी तरह से सहन करने में सक्षम होते हैं, लेकिन कुछ में इसके कारण सिरदर्द और पेट खराब होने जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

यह कुछ दवाओं जैसे रक्त पतला करने वाली दवाओं के साथ भी रियेक्ट कर सकता है, इसलिए जो लोग अन्य मेडिकल दवाएं ले रहे हैं उन्हें जिनसेंग उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

4. मेथी

मेथी आयुर्वेदिक चिकित्सा में एक लोकप्रिय जड़ी बूटी है, जो कामेच्छा बढ़ाने और यौन क्रिया में सुधार करने में मदद कर सकती है।

इसमें ऐसे यौगिक होते हैं जिनका उपयोग आपका शरीर एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन जैसे सेक्स हार्मोन के उत्पादन के लिए कर सकता है (स्रोत 1, स्रोत 2)।

2016 में 12 सफ्ताह के लिए 120 माध्यम आयु और वृद्ध पुरुषों पर हुए एक शोध के अनुसार, रोज 600 मिलीग्राम मेथी लेने से यौन क्रिया में सुधार होता है और टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ता है।

इसी तरह, कम कामेच्छा वाली 80 महिलाओं में 8 सप्ताह के लिए हुए एक शोध में पाया गया, कि प्रतिदिन 600 मिलीग्राम मेथी लेने से प्लेसीबो (नकली दवा) की तुलना में उनकी यौन उत्तेजना और इच्छा में काफी सुधार हुआ।

हालाँकि, यह जड़ी बूटी रक्त को पतला करने वाली दवाओं, जैसे कि वार्फरिन के साथ परस्पर क्रिया कर सकती है (स्रोत)। इसलिए यदि आप ब्लड प्रेशर की दवायें ले रहे हैं, तो मेथी लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

5. केसर

केसर एक स्वादिष्ट मसाला होता है, जो क्रोकस सैटिवस (Crocus sativus) नामक फूल से निकाला जाता है।

कई पारंपरिक चिकित्साओं में, इसका उपयोग तनाव कम करने की दवा से लेकर एक शक्तिशाली कामोत्तेजक के रूप में किया जाता है, खासतौर से डिप्रेशन को नियंत्रित करने में।

वास्तव में, कुछ शोधों से पता चलता है कि केसर पुरुषों और महिलाओं दोनों में डिप्रेशन की दवाओं के कारण होने वाले यौन रोग में सुधार कर सकता है।

यहाँ तक कि, छह शोधों के एक रिव्यु में बताया गया है कि केसर पुरुषों में स्तंभन, यौन इच्छा, टाइमिंग और संतुष्टि में सुधार करने में सक्षम पाया गया है।

इसके अलावा, 173 लोगों पर हुए 5 शोधों के एक अन्य रिव्यु में पाया गया, कि केसर ने पुरुषों और महिलाओं में यौन सुख, इच्छा और उत्तेजना के विभिन्न पहलुओं में काफी सुधार किया।

6. गिंको बाइलोबा

गिंको बाइलोबा पारंपरिक चीनी चिकित्सा में एक लोकप्रिय जड़ी बूटी है।

कुछ पुराने शोधों और जानवरों पर हुए अध्ययनों के अनुसार, गिंको बाइलोबा स्तंभन दोष, वीर्य जल्दी गिरने और कम कामेच्छा जैसे कई यौन विकारों का इलाज कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह रक्त में नाइट्रिक ऑक्साइड के स्तर को बढ़ा सकता है, जो रक्त वाहिकाओं को चौड़ा करके जननांगों में रक्त संचार बढ़ा सकता है (शोध 1, शोध 2, शोध 3)।

कुछ अन्य शोधों के अनुसार (शोध 1, शोध 2), गिंको बाइलोबा को अन्य देसी दवाओं जैसे एल-आर्जिनाइन, जिंक और गोखरू के साथ लेने से पुरुष और महिला दोनों में यौन क्रिया को बेहतर बनाने और टाइमिंग सुधारने में मदद मिलती है।

चूँकि, कुछ अन्य शोधों से पता चला है कि गिंको बाइलोबा का अकेले इस्तेमाल करने से, इसका पुरुषों की कामेच्छा या यौन रोग के अन्य पहलुओं पर बहुत कम या कोई प्रभाव नहीं पड़ा। लेकिन यह नाइट्रिक ऑक्साइड के स्तर को बढ़ा सकता है, इसलिए रक्त संचार की समस्या के कारण होने वाली टाइमिंग की कमी में गिंको बाइलोबा मददगार हो सकता है।

 
 
 
 

7. एल-सिट्रुलिन

एल-सिट्रुलिन एक एमिनो एसिड होता है, जो प्राकृतिक रूप से आपके शरीर द्वारा निर्मित किया जाता है।

आपका शरीर जरूरत अनुसार इसे एल-अर्जीनाइन में बदल देता है, जो आपकी रक्त वाहिकाओं को फैलाने के लिए नाइट्रिक ऑक्साइड का उत्पादन करता है, जिससे रक्त प्रवाह में सुधार करने में मदद मिलती है। बदले में, इससे आपमें कामेच्छा बढ़ाने, सेक्स टाइमिंग में सुधार करने और स्तंभन दोष के लक्षणों को कम करने में काफी मदद मिलती है (स्रोत)।

उदाहरण के लिए, 2011 में हल्के ईडी स्तंभन दोष से ग्रसित 24 पुरुषों पर हुए एक छोटे से शोध में पाया गया, कि रोज 1.5 ग्राम एल-सिट्रुलिन लेने से 1 महीने के बाद 50% प्रतिभागियों के लक्षणों में काफी सुधार हुआ।

पुरुषों पर हुए एक अन्य 30-दिवसीय शोध में, रोज 800 मिलीग्राम एल-सिट्रुलिन और 300 मिलीग्राम ट्रांस-रेस्वेराट्रोल (trans-resveratrol) का संयोजन लेने से, उनकी यौन क्रिया और लिंग की कठोरता में सुधार हुआ।

ट्रांस-रेस्वेराट्रोल, जिसे आमतौर पर रेस्वेराट्रोल के रूप में जाना जाता है, एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला यौगिक होता है, जिसे आमतौर पर लाल अंगूरों से निकाला जाता है। यह एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है और कई स्वास्थ्य लाभों से जुड़ा होता है।

एल-सिट्रुलिन बाजार में कैप्सूल या पाउडर के रूप में उपलब्ध होता है। साथ ही, इसे तरबूज, डार्क चॉकलेट और नट्स जैसे खाद्य पदार्थों से भी प्राप्त किया जा सकता है।

सेक्स टाइमिंग बढ़ाने वाली अन्य संभावित देसी दवाएं

कई अन्य खाद्य पदार्थ और सप्लीमेंट भी उपलब्ध हैं, जो आमतौर पर कामेच्छा और सेक्स टाइमिंग बढ़ाने में अतिरिक्त मददगार हो सकते हैं:

  • सीप: जानवरों पर हुए कई शोधों (शोध 1, शोध 2) से संकेत मिलता है, कि सीप आपकी कामेच्छा को बढ़ा सकता है और पुरुष सेक्स हार्मोन के उत्पादन को बढ़ावा दे सकता है।
  • चॉकलेट: चॉकलेट को व्यापक रूप से कामेच्छा बढ़ाने और मूड सुधारने में लाभकारी माना जाता है, खासकर महिलाओं में। कुछ वैज्ञानिक सबूत भी इसका समर्थन करते हैं।
  • नट्स: कुछ शोध बताते हैं कि नट्स, विशेष रूप से पिस्ता, पुरुषों में सेक्स रूचि और टाइमिंग को बढ़ा सकते हैं।
  • तरबूज: यह लोकप्रिय फल एल-सिट्रुलिन का एक अच्छा स्रोत होता है, जो स्तंभन दोष को दूर करने में और सेक्स टाइमिंग बढ़ाने में काफी लाभकारी हो सकता है।
  • चेस्टबेरी: ऐसे कुछ सबूत (शोध 1, शोध 2) मौजूद हैं, जो चेस्टबेरी को महिलाओं में प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (पीएमएस) के लक्षणों को कम करने में फायदेमंद बताते हैं।
  • कॉफी: इस लोकप्रिय पेय पदार्थ में कैफीन और पॉलीफेनोल्स होते हैं, जो कुछ शोधों (शोध 1, शोध 2, शोध 3) के अनुसार ,स्तंभन दोष के जोखिम को कम कर सकते हैं।
  • हॉर्नी गॉट वीड: यह एक फूल वाला पौधा होता है, जो खासतौर से चीन में पाया जाता है। इस जड़ी बूटी में ऐसे यौगिक होते हैं, जो लिंग में रक्त के प्रवाह को प्रभावित कर सकते हैं और कुछ जानवरों पर हुए शोधो (शोध 1, शोध 2, शोध 3) के अनुसार, स्तंभन दोष दूर करने में मदद कर सकते हैं।
  • शराब: थोड़ी मात्रा में शराब का सेवन करने से मूड बनाने में मदद मिल सकती है और सेक्स को लंबा खींचा जा सकता है। हालाँकि, अत्यधिक शराब का सेवन करने से इसके विपरीत प्रभाव पड़ते हैं।

निष्कर्ष

यदि आप अपनी सेक्स टाइमिंग को बढ़ाना चाहते हैं, तो आप अकेले नहीं हैं।

कुछ देसी दवाएं कामोत्तेजक के रूप में काम करती हैं और आपको लम्बे समय तक बिस्तर में टिके रहने में मदद कर सकती हैं। इन दवाओं में गोखरू, माका, लाल जिनसेंग, मेथी, केसर, गिंको बाइलोबा और एल-सिट्रुलिन सबसे ज्यादा फायदेमंद होती हैं।

इनमें से अधिकांश देसी दवाएं पूरी तरह से प्राकृतिक होती हैं और बाजार में व्यापक रूप से उपलब्ध हैं, जिससे इन्हें अपनी दिनचर्या में शामिल करना आसान हो जाता है।

हालाँकि ध्यान रखें कि इनमें से कुछ दवाएं, आपके द्वारा ली जा रही अन्य मेडिकल दवाओं के साथ परस्पर क्रिया कर सकती हैं। इसलिए यदि आप कोई मेडिकल दवा लेते हैं, खासतौर से ब्लड प्रेशर की, तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.