क्या तनाव और चिंता के कारण स्तंभन दोष हो सकता है?

स्तंभन दोष (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) एक सामान्य समस्या है। आंकड़ों की मानें तो 20 वर्ष से अधिक आयु के लगभग 1 करोड़ 80 लाख अमेरिकी पुरुषों को यह समस्या प्रभावित करती है। कुछ का तो यह भी सुझाव है कि वास्तविक संख्या 3 करोड़ के करीब हो सकती है, क्योंकि कई पुरुष अपने स्तंभन दोष के बारे में जानकारी नहीं देते। तो इन आंकड़ों से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि दुनियाभर में कितने अधिक पुरुष स्तंभन दोष का शिकार होते हैं।

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपमें स्तंभन दोष होने का जोखिम भी बढ़ता जाता है। लेकिन लिंग को खड़ा बनाए रखने में परेशानी होना हमेशा उम्र से संबंधित नहीं होता, और कई पुरुषों को कम उम्र में भी इसका अनुभव होता है। अच्छी खबर यह है कि आमतौर पर आपके स्तंभन दोष का कारण पहचाना जा सकता है, और अक्सर सरल इलाज के जरिये ठीक किया जा सकता है।

स्तंभन दोष के मनोवैज्ञानिक और शारीरिक दोनों कारण हो सकते हैं। शारीरिक कारणों के उपचार की सफलता आपकी स्थिति की गंभीरता पर निर्भर करती है। हालाँकि शोधों से पता चलता है कि स्तंभन दोष के ज्यादातर मामले मनोवैज्ञानिक कारणों से होते हैं। मनोवैज्ञानिक कारण, जैसे भावनात्मक और पर्यावरणीय कारक, आमतौर पर इलाज योग्य होते हैं। इसमें तनाव और चिंता भी शामिल है।

बढ़ा हुआ तनाव और चिंता आपमें अन्य समस्याओं के जोखिम को भी बढ़ा सकता है जो स्तंभन दोष का कारण बन सकता है, जैसे:

  • दिल की बीमारी
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • हाई कोलेस्ट्रॉल
  • मोटापा
  • अत्यधिक शराब का सेवन

यह जानने के लिए कि तनाव और चिंता स्तंभन दोष का कारण कैसे बनते हैं और इनपर काबू कैसे पाया जा सकता है, आगे पढ़ते रहें –

तनाव और चिंता स्तंभन दोष का कारण कैसे बनते हैं?

कोई भी पुरुष तीन के प्रकार के इरेक्शन (लिंग के खड़ा होने की प्रक्रिया) का अनुभव कर सकता है: रिफ्लेक्सिव (शारीरिक उत्तेजना के कारण), साइकोजेनिक (दृश्य या मानसिक उत्तेजकों के कारण), और निशाचर (नींद में)। लिंग खड़ा होने की प्रक्रिया में कुछ महत्वपूर्ण शारीरिक प्रणाली और प्रक्रियाएं शामिल होती हैं। इनमें से किसी भी प्रक्रिया में व्यवधान या रूकावट स्तंभन दोष का कारण बन सकती है।

लिंग खड़ा करने में निम्न महत्वपूर्ण प्रणालियाँ शामिल होती हैं –

  • तंत्रिका तंत्र
  • रक्त वाहिकाएं
  • मांसपेशियां
  • हॉर्मोन
  • भावनाएँ

तनाव और चिंता जैसी मानसिक स्वास्थ्य स्थितियां भी इस प्रक्रिया को प्रभावित कर सकती हैं कि आपका मस्तिष्क आपके शरीर की शारीरिक प्रतिक्रिया के लिए कैसे संकेत भेजता है।

लिंग खड़ा होने के मामले में, आपका मस्तिष्क लिंग में अतिरिक्त रक्त प्रवाह के संकेत भेजता है। इन संकेतों को तनाव और चिंता बाधित कर सकती है।

स्तंभन दोष के बारे में तनाव और चिंता लेने से, पहले से चल रहे स्तंभन दोष के प्रसंगों में बढ़ोतरी हो सकती है। स्तंभन दोष का अनुभव करने से व्यक्ति में व्यवहारिक परिवर्तन हो सकते हैं जो स्तंभन दोष की चिंता और प्रसंगों में योगदान करते हैं।

स्तंभन दोष के कारक हर आयु वर्ग के व्यक्ति में भिन्न होते हैं, लेकिन आम तौर पर यह निम्न होते हैं:

  • मनोवैज्ञानिक स्तंभन दोष (मुख्य रूप से घबराहट और चिंता के कारण होने वाला स्तंभन दोष) लगभग 90 प्रतिशत किशोरों और युवा पुरुषों को प्रभावित करता है। ये घटनाएं काफी कम समय तक रहती हैं, और मनोस्थिति स्थिति सुधरने पर अपनेआप ठीक हो जाती हैं।
  • व्यक्तिगत और व्यावसायिक तनाव, जैसे रिश्ते की परेशानी, मध्यम आयु वर्ग के पुरुषों में स्तंभन दोष का मुख्य कारण है।
  • वृद्ध पुरुषों के लिए स्तंभन दोष के शारीरिक कारक सबसे आम हैं, लेकिन साथी की हानि और अकेलेपन से मनोवैज्ञानिक तनाव भी हो सकता है।

निम्नलिखित जीवन की घटनाएं भी स्तंभन दोष की ओर ले जाने के लिए पर्याप्त तनाव और चिंता का कारण बन सकती हैं:

  • कामकाज की समस्या, नौकरी हानि, या तनाव
  • रिश्ते की समस्याएं और संघर्ष
  • किसी प्रियजन की बीमारी या मृत्यु
  • उम्र बढ़ने का डर
  • स्वास्थ्य में बदलाव
  • वित्तीय बोझ

पोस्ट-ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर (PTSD) से ग्रसित पुरुषों पर हुए एक शोध में पाया गया कि PTSD ने उनके यौन रोग के जोखिम को तीन गुना से अधिक बढ़ा दिया। PTSD एक मानसिक स्वास्थ्य समस्या है जो किसी भयानक घटना को देखने या अनुभव करने से होती है।

PTSD के कारण होने वाला दीर्घकालिक तनाव और चिंता आपके शरीर में कुछ होर्मोनों के स्तर को बड़ा सकता है और आपके शरीर की प्रक्रियाओं में हस्तक्षेप कर सकता है।

इससे अन्य स्वास्थ्य स्थितियां भी हो सकती हैं जो अंततः स्तंभन दोष का कारण बन सकती हैं।

स्वास्थ्य स्थितियां जो ईडी, तनाव और चिंता का कारण बन सकती हैं

कई स्वास्थ्य स्थितियों में भी तनाव विकसित हो सकता है या बिगड़ सकता है। 2013 के एक शोध से पता चलता है कि स्तंभन दोष भविष्य में हृदय रोगों के लिए एक जोखिम संकेत भी हो सकता है।

स्तंभन दोष से जुडी अन्य स्वास्थ्य स्थितियां निम्न हैं:

  • रक्त वाहिका विकार
  • तंत्रिका क्षति
  • हाई कोलेस्ट्रॉल
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • दिल की बीमारी
  • मोटापा
  • डायबिटीज
  • टेस्टोस्टेरोन की कमी
  • मेटाबोलिक सिंड्रोम
  • प्रोस्टेट कैंसर या बड़ा हुआ प्रोस्टेट
  • डॉक्टर के पर्चे की कुछ दवाएं

तनाव और चिंता के कुछ जीवनशैली कारक भी हो सकते हैं जो स्तंभन दोष में योगदान करते हैं:

  • अवैध दवाओं का उपयोग
  • तंबाकू इस्तेमाल
  • अत्यधिक शराब का सेवन
  • एक गतिहीन जीवन शैली

मनोवैज्ञानिक स्तंभन दोष समय के साथ अपनेआप दूर हो जाता है। यदि आपका स्तंभन दोष लम्बे समय तक बना रहता है, तो अपने डॉक्टर से जाँच कराकर इसके सही कारक का पता लगाएं और उचित उपचार लें। उपचार इस बात पर निर्भर करता है कि आपके तनाव और चिंता का कारण क्या है।

स्तंभन दोष के इलाज के लिए तनाव और चिंता को कम करना

थेरेपी

स्तंभन दोष के मनोवैज्ञानिक कारणों के उपचार में आमतौर पर थेरेपी का उपयोग करना शामिल होता है। थेरेपी आपको तनाव या चिंता और स्तंभन दोष के चक्र से बाहर निकलने में मदद कर सकती है।

थेरेपी विकल्पों में निम्न शामिल हैं:

कॉउंसलिंग: आप प्रमुख तनाव या चिंता कारकों की पहचान करने और उन्हें दूर करने के लिए एक थेरेपिस्ट के साथ काम करेंगे ताकि आप उन्हें प्रबंधित कर सकें।

साइकोडायनेमिक थेरेपी: इस थेरेपी में आमतौर पर आपके अवचेतन मन के संघर्षों को सम्बोधित किया जाता है ताकि स्तंभन दोष के मूल कारण को खोजने में मदद मिल सके।

सेक्स थेरेपी: यह थेरेपी कामोत्तेजना और यौन गतिविधि के बजाय संवेदनात्मक आनंद पर केंद्रित होती है। इसका उद्देश्य अधिक सुरक्षित और विश्वसनीय यौन जीवन का निर्माण करके तनाव कारक को कम करना है।

यौन चिंता थेरेपी: आपका डॉक्टर आपको स्तंभन दोष के बारे में पूरी जानकारी देगा। इससे ज्ञान की कमी के कारण होने वाली समस्याओं और चिंताओं को कम करने में मदद मिल सकती है। फिर आपका डॉक्टर भावनात्मक कारकों का पता लगाएगा और इनका समाधान खोजने में आपकी सहायता करेगा। समाधान में मन को शांत करने की विभिन्न तकनीकें जैसे योग शामिल हो सकता है।

 
 
 
 

वैकल्पिक थेरेपी

कुछ वैकल्पिक थेरेपियां भी तनाव और चिंता को कम करने में मदद कर सकती हैं। आजकल की कुछ कारगर आधुनिक थेरेपी निम्न हैं:

  • मन और शरीर को शांत करने वाली तकनीकें
  • मेडिटेशन
  • योग
  • एक्यूपंक्चर

ये थेरेपियां आपको अपने तनाव और चिंता के स्तर को प्रबंधित करने में मदद कर सकती हैं। अनुसंधान से पता चलता है कि ध्यान मस्तिष्क रसायन विज्ञान को बदल सकता है और तनाव को कम कर सकता है।

लेकिन तनाव और चिंता को कम करने के लिए मेडिकल उपचार की तुलना में इन वैकल्पिक उपचारों की प्रभावशीलता का समर्थन करने वाले सबूत कम हैं। हालांकि, यह आपके डॉक्टर द्वारा बताए गए उपचारों के साथ-साथ अतिरिक्त लाभ भी प्रदान कर सकते हैं।

तनाव, चिंता और स्तंभन दोष के लिए जड़ी-बूटियाँ और सप्लीमेंट

कुछ जड़ी-बूटियाँ और सप्लीमेंट्स हैं जो तनाव और चिंता को कम करके स्तंभन दोष के नियंत्रण में मदद कर सकते हैं। जिनमें निम्न शामिल हैं:

  • पैनेक्स जिनसेंग (Panax ginseng), एक कोरियाई जड़ी-बूटी जो गोलियों या क्रीम के रूप में बाजार में उपलब्ध होती है।
  • ब्लैक माका (black maca), एक जड़ वाली सब्जी जो तनाव को कम करने और यौन प्रदर्शन में सुधार करने में मदद करती है
  • कावा (kava), एक पौधा जो चिंता का इलाज करने और मूड में सुधार करने में मदद कर सकता है
  • कैमोमाइल (chamomile), एक पौधा जो चिंता के लक्षणों को कम करने में मदद करता है

किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या के लिए जड़ी-बूटियों और सप्लीमेंट्स को आजमाने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से बात करें। क्योंकि इनके कुछ गंभीर दुष्प्रभाव पैदा हो सकते हैं।

उदाहरण के लिए, कावा गंभीर जिगर की क्षति के लिए जाना जाता है और कई यूरोपीय देशों में तो यह प्रतिबंधित भी है।

इन जड़ी बूटियों और सप्लीमेंट्स के अन्य संभावित दुष्प्रभावों में एलर्जी, मतली, और बहुत कुछ शामिल हैं। यह समझना महत्वपूर्ण है कि ज्यादातर हर्बल दवाएं भारतीय चिकित्सा परिषद द्वारा नियंत्रित नहीं होती है और कठोर परीक्षणों व सुरक्षा समीक्षाओं के अधीन नहीं होती हैं।

स्तंभन दोष के अन्य उपचार

स्तंभन दोष अक्सर किसी अन्य अंतर्निहित चिकित्सा समस्या का लक्षण होता है। कुछ मामलों में, तनाव और चिंता स्तंभन दोष के लिए आपके जोखिम को बढ़ा सकते हैं लेकिन इसका कारण नहीं बनते हैं।

यदि आपमें स्तंभन दोष के साथ-साथ कोई अन्य लक्षण भी मौजूद हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। वह कारण की पहचान करने और संभावित रूप से इसका इलाज करने में सक्षम होगा।

स्तंभन दोष के कुछ आम उपचार निम्न हैं:

  • डॉक्टर के पर्चे की दवाएं
  • इंजेक्शन
  • पेनिस सपोसिटरी, जिसमें लिंग के मुख के माध्यम से दवा अंदर डाली जाती है जो रक्त वाहिकाओं को चौड़ा करके उसमें रक्त संचार बढ़ाती है
  • टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट
  • लिंग वर्धक यंत्र और पेनिस पंप
  • पेनाइल इम्प्लांट
  • रक्त वाहिकाओं की सर्जरी

जीवनशैली से सम्बंधित उपचार निम्न हैं:

  • सेक्स से सम्बंधित चिंता के लिए कॉउंसलिंग
  • मनोवैज्ञानिक कॉउंसलिंग
  • शरीर के वजन को स्वस्थ स्तर पर बनाये रखना
  • तम्बाकू इस्तेमाल से बचना
  • शराब के सेवन को कम करना

डॉक्टर से मदद लें

डॉक्टर द्वारा स्तंभन दोष का उपचार अक्सर सफल होता है। वह समस्या के सही कारण का पता लगाने और उसके इलाज में काफी मदद कर सकता है। इसलिए जितनी जल्दी आप अपने लक्षणों के बारे में डॉक्टर से बात करेंगे, उतनी ही जल्दी आपको इसका इलाज खोजने में मदद मिलेगी।

स्तंभन दोष दिल की बीमारी जैसी कुछ दीर्घकालिक समस्याओं का प्रारंभिक संकेत भी हो सकता है। यही एक प्रमुख कारण है कि आपको डॉक्टर के साथ अपने स्तंभन दोष के लक्षणों पर चर्चा करना महत्वपूर्ण है।