क्या लिंग पर कोलगेट लगाई जा सकती है?

प्राचीन काल से ही, पुरुषों को यह चिंता रहती है कि वो कितने समय तक सेक्स कर सकते हैं।

और उन्होंने खुद को एक बेहतर लवर बनाने के लिए हर तरह के प्रयास करके देख लिए। जिसमें लिंग में मोती जड़वाना और हैवी ड्यूटी कंडोम में खूब पैसे खर्च करना भी शामिल है।

लिंग पर कोलगेट लगाने के फायदे नुकसान


ऐसे ही सेक्स टाइम बढ़ाने का एक और तरीका इंटरनेट पर काफी प्रचित हो रहा है। कई पुरुष अपने लिंग पर कोलगेट पेस्ट लगाकर सेक्स कर रहे हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार लिंग पर कोलगेट लगाने से आपके और आपकी पार्टनर के जननांगों को गंभीर रूप से नुकसान हो सकता है और दर्दनाक फोले उठ सकते हैं।

यह तरीका तब काफी प्रचलित हो गया जब कुछ यूट्यूब वीडियो और reddit posts ने यह दावा किया कि लिंग पर कोलगेट लगाने से बिना किसी दवा या इलाज के आपके वीर्य जल्दी गिरने की समस्या और नामर्दी पूरी तरह से ठीक हो सकती है।

हालाँकि इंग्लैंड के डॉक्टर James O’Loan के अनुसार लिंग पर कोलगेट लगाने के फायदे से ज्यादा नुकसान होते हैं।

उनका कहना है कि "मैं अपने हर मरीज को लिंग पर कोलगेट लगाने के बारे में सोचने तक की मना कर देता हूँ, क्योंकि यह ऑनलाइन वीडियो में किये गए दावों जैसे किसी भी प्रकार से शीघ्रपतन और नामर्दी से लड़ने में मदद नहीं करता।"

"बल्कि कोलगेट में मौजूद पेपरमिंट आयल और अन्य केमिकल जैसे ब्लीचिंग एजेंट्स आपके जननांगों की संवेदनशील स्किन के लिए अत्यधिक नुकसानदायक हो सकते हैं।"

"इसलिए इसे अपने लिंग पर लगाकर आप अपने लिंग और अपनी पार्टनर की योनि में जलन, फफोले और सूजन होने की रिस्क ले रहे हैं।"

"साथ ही, कोलगेट को किसी भी प्रकार से लुब्रीकेंट के रूप में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।"

अत्यधिक जलन होगी​

जैसे कि यूट्यूब वीडियो दावा करती हैं कि सेक्स करने से पहले लिंग के सिरे पर कोलगेट लगाना चाहिए क्योंकि यह शीघ्रपतन और नामर्दी के इलाज के लिए दवाओं जगह एक सस्ता विकल्प है।

इसमें यह भी कहा जाता है कि "इसे लगाने से आपको गर्व का अनुभव होगा क्योंकि फिर आपका सेक्स लम्बा चलेगा। मेरे इस साधारण नुस्खे को अपनायें और एक हफ्ते के अंदर ही आप 30 मिनट से ज्यादा लगातार सेक्स पायेंगे।"
ऐसी ही दावों की एक वीडियो DHC Daily Health Care ने अपलोड की जिसे लगभग 65000 लोगों ने देखा

लेकिन इन दावों से हर कोई आश्वस्त नहीं हुआ। एक यूजर ने तो मजाक में कहा "मैंने यह नुस्खा अपनाकर देखा, और अब मेरा लिंग फूलकर मुस्कुराने लगा है।" एक और यूजर ने लिखा "यह सब बकवास है। कोलगेट एक टूथपेस्ट होता है जिसमें क्षारीय केमिकल होते हैं जो मुँह की एसिडिटी और बैक्टीरिया को मारने के लिए कारगर होते हैं। जबकि लिंग और योनि का वातावरण पूरी तरह से अलग होता है, और इनकी सेंसिटिव स्किन पर कोलगेट जैसे केमिकल लगाने से निश्चित रूप से फोले, जलन और सूजन होगी।"

विज्ञापन
loading...


ब्लड फ्लो को बढ़ायें​

James इसकी जगह यह सलाह देते हैं कि "जो लोग शीघ्रपतन और इरेक्टाइल डिसफंक्शन (नामर्दी) के शिकार हैं उन्हें वियाग्रा (Viagra) या फोर्टासीन (Fortacin) नामक स्प्रे का इस्तेमाल करना चाहिए।"

उन्होंने कहा "अधिकतर लोगों ने सिल्डेनाफिल (sildenafil) दवा का नाम सुना होगा जिसे वियाग्रा नाम से बेचा जाता है, जो लिंग में ब्लड सर्कुलेशन को बड़ा देता है और सेक्स के दौरान लम्बे समय तक लिंग को खड़ा रखता है।"

"लेकिन शीघ्रपतन के लिए एक फोर्टासीन नामक दवा भी है जिसके बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते।"

"फोर्टासीन स्प्रे का उपयोग करना आसान होता है जिसमें लोकल एनेस्थेटिक्स लिडोकेन और प्रिलोकाइन मौजूद होते हैं, और जिसे लिंग की संवेदनशीलता कम करने से लिए डिज़ाइन किया गया होता है जिससे सेक्स लंबा चलता है।"

ऐसा पहली बार नहीं है जब पुरुषों ने अपने सेक्स को बेहतर बनाने के लिए लिंग पर बेतुकी चीजों का प्रयोग किया हो।

अभी हाल ही में एक व्यक्ति ने अपने लिंग के ऊपर कट करके मोती लगाया था, क्योंकि उसे लगता था कि इससे उसे और उसकी पार्टनर को सेक्स में अत्यधिक मजा आएगा।

क्योंकि ऐसा माना जाता है कि रफ़ सेक्स के दौरान लिंग पर मौजूद कड़क चीज महिला की क्लाइटोरिस को उत्तेजित करने में मदद करती है जिससे उसके सेक्स के मजे में काफी ज्यादा बढ़ोतरी होती है।

इस प्रक्रिया में पुरुष के लिंग पर एक छोटा सा कट लगाया जाता है और उसके अंदर मोती फिट किया जाता है। इसके बाद कट पर टाँके लगा दिए जाते हैं और 5-6 दिन के लिए घाव को भरने का वक्त दिया जाता है।

भले ही इस जननांगों के आभूषण को मोती कहा जाता है, लेकिन यह ज्यादातर टेफ्लान, सिलिकॉन, सर्जिकल स्टील या टाइटेनियम से बने होते हैं।

डॉक्टर्स चेतावनी देते हैं कि यह प्रक्रिया पुरुष और महिला दोनों के लिए काफी जोखिम भरी साबित हो सकती है, क्योंकि इसके कारण मरीज को टेटनस, बैलेनाइटिस या गैंग्रीन होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है।

इसी प्रकार डॉक्टर्स ने पुरुषों को जेलकिंग एक्सरसाइज करने के बारे में भी आगाह किया, जिसमें रोज कुछ समय के लिए आधे खड़े लिंग को एक्सरसाइज कराई जाती है।

अन्य बॉडी एक्सरसाइज की तरह ही इस एक्सरसाइज में भी लिंग की छोटी-छोटी नसें फट जाती हैं, जिससे नए सेल्स बनना शुरू हो जाते हैं और लिंग की साइज में थोड़ी-बहुत वृद्धि हो जाती है।

ऐसा नियमित रूप से करते रहने से लिंग के ब्लड चैम्बर्स भी बढ़ने लगते हैं जिससे लिंग में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और लिंग ज्यादा मोटा-लम्बा होता है।

लेकिन लिंग पर जेलकिंग के इन फायदों पर अभी बहुत कम शोध हुए हैं। अभी तक जितने भी शोध हुए हैं उनमें शोधकर्ताओं ने लिंग पर कई हानिकारक प्रभावों को भी देखा है।

लिंग की लगातार स्ट्रेचिंग करने से लिंग के उन ब्लड चैम्बर्स में चोट लग सकती है जो लिंग खड़ा होने के दौरान ब्लड से भर जाते हैं। इसके फलस्वरूप आपके लिंग में पायरोनी (Peyronie's) बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है जिसमें लिंग में गाँठ और टेढ़ापन होने लगता है।

निष्कर्ष​

कोलगेट एक केमिकल होता है जिसे मुख्य रूप से मुँह की सफाई करने के लिए डिज़ाइन किया गया होता है। जबकि लिंग और योनि की स्किन काफी सेंसिटिव होती है और कोलगेट के कारण इसपर जलन, फफोले, सूजन और यहाँ तक कि छाले भी हो सकते हैं। इसकी जगह आप अपने शीघ्रपतन और नामर्दी के इलाज के लिए वियाग्रा और फोर्टासीन जैसी अस्थायी दवाओं का उपयोग कर सकते हैं। स्थाई परिणाम पाने के लिए आपको अपने खानपान और जीवनशैली में सुधार लाने की जरूरत होगी और डॉक्टर से भी नियमित सलाह लेनी होगी।
 

सुझावित टॉपिक्स

Top