10 लिंग वर्धक तेलों के नाम - फायदों के साथ

आजकल कई लोग अपने लिंग की साइज बढ़ाने के लिए अलग-अलग लिंग वर्धक तेलों को खोजते रहते हैं, लेकिन इंटरनेट पर हिंदी में इनकी जानकारी काफी आधी-अधूरी मिलती है और इनमें से कुछ तेल काम करते हैं और कुछ नहीं करते। इसलिए आपको इस समस्या से छुटकारा के लिए हमने इस लेख को लिखने का सोचा। इस लेख में हम लिंग के लिए फायदेमंद सभी प्राकृतिक और बाजार में उपलब्ध ब्रांडेड तेलों के नाम बताएँगे।

9 लिंग वर्धक तेलों के नाम - फायदों के साथ


तेल से लिंग की मालिश करने से उसकी नसों को पोषण मिलता है और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। वैसे अलग-अलग तेल लिंग के लिए अलग-अलग तरीके से फायदेमंद होते हैं, इसलिए नीचे दिए गए सभी तेलों का इस्तेमाल करके देखें और अपने लिए सही तेल का चुनाव करें।
  1. जैतून का तेल
  2. बादाम का तेल
  3. ऑर्गन आयल
  4. नारियल तेल
  5. सरसों का तेल
  6. सांडे का तेल
  7. आर्गी आयल
  8. HM-15 एक्स्ट्रा लार्ज आयल
  9. लिंग लोंग एक्स्ट्रा लार्ज आयल
  10. पतंजलि लिंग वर्धक आयल

प्राकृतिक लिंग वर्धक तेल​

यदि आप प्राकृतिक तरीके से अपने लिंग को बड़ा करना चाहते हैं तो आपके किचन में ही ऐसे कई तेल मौजूद हैं जिनसे लिंग की मालिश की जा सकती है। अलग-अलग तेल का अलग-अलग फायदा होता है जिनके पूरी जानकारी हमने नीचे दी है -

1. जैतून का तेल (Olive Oil)

जैतून के तेल में अत्यधिक मात्रा में विटामिन ई और अन्य शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। शोध बताते हैं कि यह दिल के लिए बहुत लाभकारी होता है।

जैतून का तेल


जैतून के तेल को सबसे बढ़िया लिंग वर्धक आयल माना जाता है क्योंकि -
  • यह नामर्दी से छुटकारा दिलाता है और इरेक्टाइल डिसफंक्शन से लड़ता है।
  • लिंग की नसों में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है।
  • यह नसों में लैक्टिक एसिड की मात्रा को कम करता है और मालिश के कारण हुए मसल ब्रेकअप को जल्दी ठीक करने में मदद करता है। बॉडी बिल्डिंग के दौरान जब मसल ब्रेकअप होकर दोबारा बनती हैं तभी आपकी बॉडी बिल्ड होती है।
  • डॉक्टर्स बताते हैं कि दिल के स्वस्थ रहने से शरीर का स्टैमिना बढ़ता है। अपने खाने में जैतून के तेल को शामिल करने से दिल स्वस्थ रहता है, जिससे लिंग के स्टैमिना को बढ़ाने में मदद मिलती है।

2. बादाम का तेल (Almond Oil)

बादाम और पिस्ता जैसे नट्स जिंक, मैंगनीज और कॉपर का एक प्राकृतिक स्रोत होते हैं जो लिंग के निर्माण को बनाए रखने में मदद करते हैं। बादाम को स्पर्म की गुणवत्ता बेहतर बनाने और संख्या को बढ़ाने मददगार माना जाता है। जिंक शरीर के प्रमुख अंगों जैसे लिंग में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में मदद करता है।

बादाम का तेल


लिंग पर बादाम का तेल लगाने के निम्न फायदे भी हो सकते हैं -
  • किसी भी अंग की मालिश करने से उसकी छोटी-छोटी मांसपेशियाँ फट जाती हैं और जब यह दोबारा बनती हैं तो उनकी साइज बड़ी होती है। इसी कारण शरीर की मालिश करने से वह हुष्ट-पृष्ट होता है। बादाम तेल से लिंग की मालिश करने से उसकी फटी माँसपेशियाँ जल्दी भरने लगती हैं और उसे जल्दी मोटा लम्बा करने में मदद मिलती है।
  • इसी प्रकार यदि लिंग पर किसी प्रकार की चोट या खरोंच आ गई है तब भी बादाम के तेल की मालिश फायदेमंद होती है।
विज्ञापन
loading...


3. ऑर्गन आयल (Argan Oil)

बहुत से लोगों को इस तेल के बारे में जानकारी नहीं होती। यह तेल ऑर्गन नामक पेड़ से निकाला जाता है और बाजार में आसानी से उपलब्ध होता है। ज्यादातर लोग इस तेल को बालों पर लगाते हैं। लेकिन यह स्किन के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। यह स्किन को UV रे से बचाता है, नमी देता है, इन्फेक्शन से लड़ता है और स्किन को जवान बनाये रखने में मदद करता है। इसलिए इससे लिंग की मालिश करने से साइज तो बढ़ती ही है साथ ही कई अन्य स्किन समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है।

ऑर्गन आयल


लिंग के लिए ऑर्गन आयल के अन्य फायदे निम्न हैं:
  • लिंग में जितना ज्यादा लचीलापन (flexibity) होता है वह उत्तेजना के दौरान उतना ही लम्बा मोटा हो जाता है। ऑर्गन आयल की मालिश से आप यह लचीलापन प्राप्त कर सकते हैं।
  • यदि आपके लिंग में अत्यधिक डॉयनेस या सूखापन है तो भी आप ऑर्गन आयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि यह स्किन को मॉइस्चर देने में काफी मददगार होता है।
  • मालिश के बाद लिंग को आराम देने में यह काफी मदद करता है।

4. नारियल तेल (Coconut Oil)

नारियल का तेल लगभग हर घर में उपलब्ध होता है। नारियल के तेल में सैचुरेटेड फैटी एसिड्स पाई जाती हैं जो लिंग की नसों में जमे अतिरिक्त फैट को साफ़ करती हैं।

नारियल तेल


एक शोध के अनुसार नारियल के तेल को नियमित रूप से सेवन करने से दिल स्वस्थ रहता है।

नारियल के तेल में 50% लॉरिक एसिड (lauric acid) पाई जाती है। कुछ शोधों (शोध 1, शोध 2) के अनुसार यह एसिड खतरनाक पैथोजन्स और बैक्टीरिया को मार सकती है। इसलिए स्किन पर नारियल का तेल लगाने से आप कई स्किन प्रॉब्लम्स से बच सकते हैं।

साथ ही, कुछ शोध (शोध 1, शोध 2) यह भी बताते हैं कि नारियल का तेल स्किन को नमी देता है और खुजली से बचाता है।

इसके अलावा नारियल के तेल के लिंग के लिए निम्न फायदे भी होते हैं:
  • यह लिंग की नसों को मजबूती देता है।
  • चूँकि नारियल का तेल काफी हैवी होता है और पोषक तत्वों से भरपूर होता है इसलिए यह लिंग की नसों में काफी गहराई तक चला जाता है और उन्हें पोषण देता है।

5. सरसों का तेल

सरसों के तेल में अत्यधिक मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स और विटामिन ई पाए जाते हैं जो लिंग में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाते हैं। साथ ही, इसमें मजबूत एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती हैं जो लिंग की इम्युनिटी को बढ़ाती हैं।

सरसों का तेल


सरसों के तेल का सबसे बड़ा गुण यह होता है कि यह एक मजबूत उत्तेजक होता है, जो लिंग की नसों को उत्तेजित करके ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने में मदद कर सकता है।

सरसों के तेल के लिंग के लिए फायदे निम्न हैं:
  • लिंग पर सरसों का तेल लगाने से आप कई यौन समस्याओं जैसे लिंग का ढीलापन, नसों में कमजोरी, वीर्य जल्दी गिरने की समस्या आदि से बच सकते हैं।
  • लिंग की स्किन को नमी और पोषण प्रदान करता है।
  • सरसों का तेल एक एंटीबैक्टीरियल एजेंट की तरह काम करता है जो लिंग को फंगल इंफेक्शन से बचाता है।

बाजार में उपलब्ध लिंग वर्धक तेल​

बाजार में ऐसे कई लिंग वर्धक तेल उपलब्ध हैं जो लिंग को लम्बा मोटा करने का दावा करते हैं। इनमें से कुछ कारगर नहीं होते और कुछ होते हैं। लोगों के रिव्यु के आधार पर हमने कुछ कारगर लिंग वर्धक तेलों की सूची नीचे दी है -

6. सांडे का तेल (Sanda Oil)

सांडे के तेल को प्राचीन काल से ही पुरुषों के लिए एक आयुर्वेदिक हर्बल औषधी माना जाता है। इसे नामर्दी और शीघ्रपतन के लिए एक कारगर प्राकृतिक तेल माना जाता है।

सांडे का तेल


आमतौर पर सांडे के तेल में निम्न पदार्थ पाए जाते हैं -
  • अश्वगंधा
  • शतावरी
  • लौंग का तेल
  • काले जीरे का तेल
  • तिल का तेल
  • धतूरा
सांडे के तेल में मुख्य रूप से अश्वगंधा पाया जाता है जिसे लिंग के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। एक शोध के अनुसार अश्वगंधा रक्त कोशिकाओं को मोटा करता है जिससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। एक अन्य शोध में अश्वगंधा को हॉर्मोन बैलेंस करने और शुक्राणुओं की गुणवत्ता बढ़ाते में फायदेमंद माना गया है।

अश्वगंधा की तरह शतावरी भी लिंग की नसों को चौड़ा करके ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाती है। एक शोध के अनुसार शतावरी नामर्दी को ठीक करने में मदद करती है और पुरुष व महिला दोनों के बाँझपन को दूर करती है।

लौंग का तेल एक प्राकृतिक गर्म उत्तेजक होता है। इसे आमतौर पर माँसपेशियों और दांतों के दर्द को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। एक शोध के अनुसार लौंग के तेल में मौजूद eugenol नामक कंपाउंड लिंग में ब्लड फ्लो को बढ़ाकर नामर्दी दूर करने में मदद कर सकता है।

एक मेडिकल रिव्यु के अनुसार काले जीरे में thymoquinone नामक एक्टिव कंपाउंड पाया जाता है जो लिंग में इंफ्लेमेशन को कम करता है और ब्लड वेसल्स को चौड़ा करके ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है। काला जीरा ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में भी मदद करता है। नामर्दी के इलाज के लिए इन दोनों को कंट्रोल करना जरूरी होता है।

तिल के तेल को आमतौर पर अन्य तेलों के वाहक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। एक रिव्यु के अनुसार यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन के इलाज में भी लाभकारी होता है।

7. आर्गी आयल (Orgy Oil)

आर्गी आयल को विभिन्न जड़ी बूटियों से मिलाकर बनाया जाता है जो लिंग के आकर को बढ़ाने में मदद करती हैं और लिंग ठीक से खड़ा न हो पाने की समस्या को दूर करती हैं।

आर्गी आयल


आर्गी आयल प्राकृतिक जड़ी बूटियों और खनिजों का मिश्रण होता है जो लिंग को पोषण देने में मदद करता है और शक्ति देता है।

यह आयल पूरी तरह से प्राकृतिक औषधियों से बना होता है और इसके कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते।

इस आयल में मुख्य रूप से निम्न पदार्थ मिले होते हैं - केसर, सरसों का तेल, हींग, शिलाजीत, मालकांगनी का तेल, जुन्देबेदस्तर, कलौंजी, अकरकरा और जैतून का तेल।

एक शोध के अनुसार केसर बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के इरेक्टाइल डिसफंक्शन को ठीक करने में मदद कर सकता है।

हींग एंटीऑक्सीडेंट्स का काफी अच्छा स्त्रोत होती है। यह एंटीऑक्सीडेंट लिंग की नसों को आराम प्रदान करते हैं और ब्लड फ्लो को बढ़ाते हैं।

सरसों का तेल एक अच्छा उत्तेजक होता है लिंग की नसों और मांसपेशियों को पोषण प्रदान करता है।

शिलाजीत एक कामोत्तेजक पदार्थ होता है जो आपकी काम इच्छा को बढ़ाता है। साथ ही, इसमें दिमाग को शांत करने वाले गुण भी होते हैं जिनसे आपका तनाव कम होता है। यह आपकी रोग प्रतिरोधी क्षमता को मजबूत करता है और ताकत बढ़ाकर सेक्सुअल परफॉरमेंस बढ़ाने में मदद करता है।

मालकांगनी को "जीवन देने वाला पेड़" भी कहा जाता है, क्योंकि इसके बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ होते हैं। मालकांगनी में कामोद्दीपक गुण होते हैं जो लिंग के स्टैमिना को बढ़ाकर उसे लम्बे समय तक खड़ा रखने में मदद करते हैं।

जुन्देबेदस्तर वीर्य जल्दी गिरने की समस्या और इनफर्टिलिटी में काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा यह महिलाओं की योनि के लिए भी फायदेमंद माना जाता है।

एक शोध के अनुसार कलौंजी शुक्राणुओं की गुणवत्ता को बढ़ाने में काफी फायदेमंद होता है।

अकरकरा लिंग की दुर्गन्ध को दूर करने में मदद करता है।

जैतून का तेल एक अच्छा तेल वाहक होता है जो लिंग की नसों में गहराई तक जाने की क्षमता रखता है।

विज्ञापन
loading...


8. HM-15 एक्स्ट्रा लार्ज आयल

इसका पूरा नाम हर्बल मजा एक्स्ट्रा लार्ज आयल है।

HM-15 एक्स्ट्रा लार्ज आयल


इसके फायदे निम्न हैं -
  • वीर्य स्खलन के समय को बढ़ाता है
  • वीर्यस्खलन को मजबूत और तेज करता है, जिससे सेक्स का मजा बढ़ता है
  • यह एक हर्बल तेल है जिसके कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होते

9. लिंग लोंग एक्स्ट्रा लार्ज आयल - Ling Long Xtra Large Penis Vardhak Oil

इस तेल को प्राचीन यूनानी और आयुर्वेदिक पद्धितियों के आधार पर बनाया है। यह चयनित जड़ी-बूटियों से भरपूर होता है, जो सीधे आपके मन, शरीर और यौन अंगों को उत्तेजित करता है ताकि आपको पूरे ब्रह्मांड में विद्यमान सबसे बड़ा चरम सुख प्राप्त हो सके।

लिंग लोंग एक्स्ट्रा लार्ज आयल


यह आपके स्टैमिना को बूस्ट करता है और एनर्जी लेवल को बढ़ाता है ताकि आपको प्रचंड प्रेम करने की शक्ति मिल सके।

क्लीनिकल ट्रायल्स से यह पता चला है कि लिंग लॉन्ग आयल लिंग पर लगाने के तुरंत बाद ही अवशोषित होता जाता है और लिंग को उत्तेजित करना शुरू कर देता है।

इस आयल को लिंग के सीधे ऊपर ही लगाया जाता है क्योंकि यह लिंग के स्पंजी टिश्यू में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ा देता है जिससे वह कठोर जो जाते हैं। इसलिए यह लिंग को लम्बे समय तक खड़ा रखने में काफी मदद करता है और शीघ्रपतन जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाता है।

लिंग लॉन्ग आयल पूरी तरह से हर्बल होता है और इसके कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते।

इस आयल में निम्न हर्बल पदार्थ पाए जाते हैं -
  • शिलाजीत
  • मालकांगनी
  • जुन्देबेदस्तर
  • वीर बहुति
  • अकरकरा
  • दालचीनी
  • लॉन्ग
  • ज्यावत्री
  • जायफल
  • जोंक
  • खरातीन खुश्क
  • सफेद मोम
  • शीप फैट
  • पीपल का फल
  • कलोंजी
  • जैतून का तेल
  • तिल का तेल
इस तेल को लगाने के पहले महीने में ही आपको अपने लिंग की मोटाई और लम्बाई में बढ़ोतरी होती नजर आने लगेगी। साथ ही आप अपने सेक्स टाइम में भी भीषण वृद्धि देखेंगे।

10. पतंजलि लिंग वर्धक आयल

बाजार में लिंग को बढ़ाने के कई तेल मौजूद हैं। पतंजलि ने भी अपने कुछ लिंग वर्धक तेलों को निकाला है।

अगर आप बाबा रामदेव के पतंजलि प्रोडक्ट्स पर भरोसा करते हैं तो आपको इन तेलों का इस्तेमाल करके देखना चाहिए।

तो चलिए जानते हैं लिंग के लिए पतंजलि के सबसे फायदेमंद तेलों के नाम
  • पतंजलि तेजस तेलम
  • पतंजलि बादाम तेल

तेजस तेलम​

तेजस तेलम एक बहु-उपयोगी तेल होता है जो हर्बल-बॉडी लोशन, ऑल-पर्पस बाम, हेयर ऑइल और लिंग वर्धक तेल की तरह काम करता है।

पतंजलि तेजस तेलम


यह नौ प्रकार के तेलों को मिलाकर बनता है। यह नौ तेल निम्न हैं -
  1. बादाम का तेल - बादाम में जिंक, मैंगनीज और कॉपर पाए जाते हैं जो लिंग में लम्बे समय तक वीर्य को रोके रखने में मदद करते हैं।
  2. जैतून का तेल - जैतून का तेल लिंग की हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद होता है और पुरुष और महिला दोनों में कई सेक्स समस्याओं से बचाता है।
  3. अखरोट का तेल - अखरोट में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो लिंग में जलन और इन्फ्लेमेशन से बचाते हैं।
  4. सूरजमुखी का तेल - सूरजमुखी लिंग को हील करने में मदद करता है और उसे लचीला बनाता है।
  5. तिल का तेल - एक शोध के अनुसार तिल के तेल की नियमित मालिश करने से अत्यधिक छोटे या टेड़े लिंग को लम्बा मोटा और सीधा करने में मदद मिलती है।
  6. मूंगफली का तेल - मूंगफली के तेल में अत्यधिक मात्रा में विटामिन ई होता है। विटामिन ई स्किन का एक प्राकृतिक खाना होता है जो उसे स्वस्थ रखने में मदद करता है और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है। साथ ही, मूंगफली का तेल लिंग की बदबू को भी दूर करने में मदद करता है।
  7. सोयाबीन का तेल - सोयाबीन में प्राकृतिक प्रोटीन होता है जो लिंग की स्किन को पोषण देता है।
  8. सरसों का तेल - सरसों के तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स और विटामिन ई पाए जाते हैं जो लिंग में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाते हैं। साथ ही, इसमें मजबूत एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती हैं जो लिंग की इम्युनिटी को बढ़ाती हैं।
  9. अरंडी का तेल - अरंडी का तेल कोलेजन के विकास में मदद करता है। कोलेजन स्किन में पाया जाने वाला मुख्य प्रोटीन होता है जो हर एक अंग को बिल्ड करने के लिए जरूरी है। सेक्स विशेषज्ञ के अनुसार अरंडी का तेल लिंग का टेढ़ापन (या पायरोनी बिमारी) को ठीक करने में भी मददगार हो सकता है।
तेजस तेलम स्किन और मांसपेशियों की गहराई तक समा जाता है और उन्हें मजबूत बनाने में मदद करता है और पोषण देता है।

यह आयुर्वेदिक तेल मांसपेशियों की गतिविधि में सुधार और स्किन को नमी देने के लिए भी जाना जाता है।

हल्का होने के कारण स्किन में इस तेल का अवशोषण तेज होता है।

यह सर्दियों की ड्राईनेस और खुजली को दूर करता है और वाटर लॉस को बैलेंस करने में मदद करता है।

पतंजलि बादाम तेल​

बादाम तेल में भरपूर मात्रा में विटामिन ई, मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड्स, प्रोटीन, पोटैशियम और जिंक पाए जाते हैं, इसलिए यह लिंग के लिए काफी फायदेमंद होता है। यह लिंग को महत्वपूर्ण पोषण देता है और उसकी मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।

पतंजलि बादाम तेल


यदि बादाम तेल किसी अच्छी ब्रांड जैसे पतंजलि का हो तो और भी अच्छा है। पतंजलि के सभी पदार्थ आयुर्वेदिक होते हैं और इनके कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते। इसलिए लिंग की मालिश के लिए पतंजलि बादाम तेल का इस्तेमाल एक अच्छा विकल्प है।

ध्यान रखें​

इन तेलों का इस्तेमाल करने से पहले निम्न बातों का ध्यान रखें -
  • हफ्ते में केवल तीन-चार बार ही इन तेलों से लिंग की मालिश करें।
  • एक बार में सिर्फ एक ही तेल का उपयोग करें।
  • यदि किसी तेल से आपकी स्किन को एलर्जी है तो उसका उपयोग न करें। यदि आपको नहीं पता कि आपको किस तेल से एलर्जी है तो सबसे पहले तेल की थोड़ी सी मात्रा को अपने हाथ की स्किन पर एक-दो घंटे के लिए लगाकर देखें।
  • तेल को थोड़ा हल्का गरम करके इस्तेमाल करने से ज्यादा फायदा होता है।
  • तेल की मालिश से लिंग बढ़ने में थोड़ा समय लग सकता है। इसलिए धैर्य रखें और नियमित रूप से मालिश करते रहें।
  • कभी भी लिंग की मालिश के दौरान हस्तमैथुन न करें।
 
Last edited by a moderator:
Top