क्या वीर्य से गंध आना सामान्य है?

वीर्य में हमेशा एक जैसी गंध नहीं आती है। इसमें कई पदार्थ होते हैं जो इसकी गंध को प्रभावित करते हैं, और आपका व्यक्तिगत आहार, स्वच्छता और यौन जीवन सभी एक भूमिका निभाते हैं।

कुछ खाद्य पदार्थ इसे एक मीठी सुगंध (और स्वाद!) दे सकते हैं। लेकिन अम्लीय पदार्थ खाने या पीने से आपके वीर्य से दुर्गंध आ सकती है। कुछ संक्रमण जैसे गोनोरिया भी इसकी गंध को प्रभावित कर सकते हैं।

वीर्य में इतनी विशिष्ट गंध क्यों होती है, आपको डॉक्टर से कब मिलना चाहिए, और अपनी समग्र गंध को कैसे सुधारना चाहिए, यह सब जानने के लिए आगे पढ़ते रहें:

अगर इसमें अमोनिया, ब्लीच या क्लोरीन जैसी गंध आती है

आमतौर पर सभी स्वस्थ पुरुषों के वीर्य में अमोनिया, ब्लीच या क्लोरीन जैसी गंध आती है।

वीर्य लगभग में 1 प्रतिशत शुक्राणु और 99 प्रतिशत अन्य यौगिक, एंजाइम, प्रोटीन और खनिज होते हैं।

इनमें से कई पदार्थ क्षारीय होते हैं। इसका मतलब है कि उनका पीएच मान 7 से ऊपर होता है। (पीएच मान 0 से 14 के बीच मापा जाता है। यौगिक का पीएच मान 7 से जितना ज्यादा कम होता है वह उतना ही ज्यादा अम्लीय होता है, और पीएच मान 7 से जितना ज्यादा अधिक होता है यौगिक उतना ही ज्यादा क्षारीय होता है।)

वीर्य में मौजूद कुछ क्षारीय यौगिक निम्न हैं:

  • मैग्नीशियम
  • कैल्शियम
  • कॉपर
  • जिंक
  • सल्फर

कुल मिलाकर, वीर्य आमतौर पर थोड़ा क्षारीय होता है। वीर्य के 7.2 से 8.0 के बीच के पीएच मान को स्वस्थ माना जाता है।

जब आपके शरीर का पीएच स्तर संतुलित हो, तो आपके वीर्य में अमोनिया, ब्लीच या अन्य क्षारीय पदार्थों जैसी गंध आनी चाहिए।

कभी-कभार आप इस गंध में बदलाव देख सकते हैं, खासकर सेक्स के बाद। महिला की योनि अम्लीय होती है, जिसका पीएच स्तर 3.8 और 4.5 के बीच होता है। यह अम्लीय वातावरण वीर्य के पदार्थों के साथ मिल सकता है और अस्थायी रूप से गंध को बदल सकता है।

अगर इसमें मछली या सड़े हुए अंडे जैसी बदबूदार गंध आती है

वीर्य में मछली, सड़न या बदबूदार गंध आना सामान्य नहीं है।

कुछ खाद्य पदार्थ खाने – जैसे शतावरी, मांस और लहसुन – या बहुत अधिक कैफीन या शराब पीने से आपके वीर्य की गंध तेज हो सकती है।

यदि आप इन खाद्य पदार्थों को खाते हैं, तो इनका सेवन सीमित करके देखें कि क्या आपके वीर्य की गंध कुछ दिनों के बाद सामान्य हो जाती है या नहीं। अगर सामान्य हो जाती है, तो चिंता की कोई बात नहीं है।

लेकिन यदि गंध बनी रहती है, तो यह किसी यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) या अन्य अंतर्निहित स्थिति का संकेत हो सकता है, जैसे:

  • ट्राइकोमोनिएसिस: इस संक्रमण से लिंग में खुजली और जलन हो सकती है, साथ ही बदबूदार पदार्थ बाहर आ सकता है।
  • गोनोरिया: इस बैक्टीरियल संक्रमण के कारण पेशाब में जलन व अंडकोष में सूजन हो सकती, और लिंग से सफेद, हरे या पीले रंग का स्राव हो सकता है।
  • प्रोस्टेटाइटिस: इसमें प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन होती है। यह आमतौर पर एक बैक्टीरियल संक्रमण के कारण होती है। इसके लक्षणों में पेशाब करते समय दर्द होना, बादल या खूनी पेशाब आना, स्खलन के दौरान दर्द, और सामान्य से अधिक बार पेशाब लगना शामिल हैं।

यदि आप दुर्गन्धयुक्त पेशाब के साथ इन लक्षणों को देखते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से जाँच करवाएं।

 
 
 
 

अन्य चीजें जो गंध को प्रभावित कर सकती हैं

कई अलग-अलग कारक आपके शरीर के रासायनिक संतुलन, साथ ही बैक्टीरिया और अन्य पदार्थों की एकाग्रता को प्रभावित करते हैं जो वीर्य के साथ मिलकर उसकी गंध को बदल देते हैं।

फोरस्किन

आपके लिंग की फोरस्किन के नीचे मौजूद पसीना, स्किन का तेल, मृत स्किन कोशिकायें, बैक्टीरिया और स्मेग्मा, स्खलन के दौरान आपके वीर्य के साथ मिल सकते हैं। यह आपके वीर्य की गंध में काफी बदलाव ला सकते हैं।

इसलिए नियमित रूप से अपनी फोरस्किन को पीछे करके साफ करें और स्मेग्मा (सफेद पदार्थ) न बनने दें।

सूखा पसीना और पेशाब

पसीने और मूत्र में उच्च मात्रा में सोडियम होता है। पसीने या मूत्र के सूखने के बाद सोडियम आपकी स्किन पर ही रह जाता है, और आपके वीर्य में मिलकर उसकी ब्लीच या क्लोरीन की गंध को और ज्यादा तेज कर सकता है।

पसीने और मूत्र में कई अन्य पदार्थ जैसे क्लोराइड, पोटेशियम और मैग्नीशियम भी होते हैं, जो वीर्य के क्षारीय पदार्थों के साथ प्रतिक्रिया करके इसकी गंध को बदल सकते हैं।

आहार

आप जो भी खाते और पीते हैं उसमें रसायन, पोषक तत्व और अन्य पदार्थ होते हैं, जो आपके वीर्य के साथ मिल सकते हैं।

कुछ आहारों को आपके वीर्य की गंध (और स्वाद) को मीठा बनाने के लिए माना जाता है, जिनमें शामिल हैं:

  • फल, जैसे अनानास, संतरा, और पपीता
  • कुछ सब्जियां, जैसे ब्रोकोली, अजवाइन, और गेंहूं के जवारे
  • “मीठे” मसाले, जैसे जायफल और दालचीनी

कुछ को आपके वीर्य को अधिक कड़वा बनाने के लिए माना जाता है, जिनमें शामिल हैं:

  • कैफीन (चाय या कॉफी)
  • शराब
  • पत्ता गोभी
  • शतावरी
  • पत्तेदार साग, जैसे पालक
  • मांस
  • दूध और अन्य दुग्ध उत्पाद

इनमें से कुछ खाद्य पदार्थ स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं, इसलिए यदि आप अपने वीर्य की गंध के बारे में चिंतित हैं तो इन्हें पूरी तरह से खाना बंद न करें। वीर्य के स्वाद और गंध को संतुलित रखने के लिए आप हमेशा ऊपर बताये गए फल और सब्जियों को अधिक खा सकते हैं।

क्या आप अपने वीर्य की गंध को बदल सकते हैं?

आपका आहार, जीवनशैली और स्वच्छता सभी वीर्य की गंध को प्रभावित कर सकते हैं। इसकी विशिष्ट क्षारीय गंध को बनाए रखने में मदद करने के लिए आप निम्न चीजें कर सकते हैं:

  • नियमित रूप से स्नान करें। हमेशा अपने लिंग और फोरस्किन के नीचे की सफाई रखें।
  • भरपूर फल और सब्जियों का सेवन करें।
  • अपने कैफीन और शराब के सेवन को सीमित करें।
  • सेक्स के दौरान कंडोम पहनें

यदि आपको अपने वीर्य में कोई असामान्य गंध आती है, तो अपने डॉक्टर से मिलें, खासकर यदि आपने किसी नए साथी के साथ यौन संबंध बनाए हों। आपका डॉक्टर किसी भी यौन संचारित संक्रमण की सम्भावना या अंतर्निहित कारण का पता लगाने में मदद कर सकता है और आपको आगे क्या करना चाहिए उसकी सलाह दे सकता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.