योनि का सूखापन दूर करने के वैकल्पिक उपचार

योनि का सूखापन एक असहज और अक्सर दर्दनाक स्थिति हो सकती है। आमतौर पर यह रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के दौरान और बाद में प्राकृतिक रूप से होती है। रजोनिवृत्ति के कारण महिला में एस्ट्रोजन का स्तर कम हो जाता है, जिससे योनि में सूखापन आ जाता है।

इसके अलावा, कुछ दवाएं और इम्यून सिस्टम में विकार के कारण भी योनि में सूखापन पैदा हो सकता है।

एक स्त्री रोग विशेषज्ञ आपको इस स्थिति के लिए सही उपचार निर्धारित करने में मदद कर सकता है, जिसमें मीन एस्ट्रोजन थेरेपी या अन्य वैकल्पिक तरीके, जैसे टोपिकल क्रीम या आहार परिवर्तन शामिल हैं।

योनि में सूखेपन के कारण

रजोनिवृत्ति से गुजर रही और गुजर चुकी महिलाओं में योनि का सूखापन होना बहुत आम है। यहां इसके कुछ सामान्य कारण दिए गए हैं:

एस्ट्रोजन में कमी

एस्ट्रोजन एक हार्मोन होता है, जो योनि के ऊतकों को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक है।

यह हार्मोन योनि की सामान्य चिकनाहट, एसिडिटी का स्तर और लचीलापन को बनाए रखने में मदद करता है।

इसलिए, जब एस्ट्रोजन का स्तर कम हो जाता है, तो योनि की परत पतली और कम लचीली हो जाती है, और योनि कम चिकनाई पैदा करती है।

रजोनिवृत्ति के दौरान और बाद में, बच्चे के जन्म के दौरान और स्तनपान की अवधि के दौरान एस्ट्रोजन का स्तर गिर सकता है।

यदि आप सिगरेट पीती हैं, आपके अंडाशय को हटा दिया गया है, कैंसर के लिए इलाज किया गया है, या आपमें कुछ इम्यून सिस्टम का विकार हैं, तब भी आपके एस्ट्रोजन स्तर में कमी आ सकती है।

दवाएं

कुछ दवाएं पूरे शरीर में सूखापन पैदा कर सकती हैं, जिसमें योनि भी शामिल है।

ठंड, एलर्जी और डिप्रेशन की दवाओं का यह प्रभाव हो सकता है। कीमोथेरेपी दवाएं, जैसे कि स्तन कैंसर से लड़ने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाएं भी सूखापन पैदा कर सकती हैं।

अन्य कारक

ऐसे कुछ अतिरिक्त, लेकिन कम सामान्य कारण भी हैं जिनकी वजह से आपको योनि में सूखापन का अनुभव हो सकता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप स्टोर से खरीदे गए किसी योनि साफ करने वाले उत्पाद का उपयोग करती हैं, तो आप अपनी योनि में रसायनों के प्राकृतिक संतुलन को बाधित कर सकती हैं। इससे योनि में सूजन और सूखापन हो सकता है।

स्जोग्रेन सिंड्रोम (Sjögren’s syndrome) नामक एक दुर्लभ ऑटोइम्यून बीमारी, जो आंखों और मुंह में सूखापन का कारण बनती है, योनि में भी सूखापन पैदा कर सकती है।

स्त्री रोग विशेषज्ञ से कब बात करें

हालांकि अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ के साथ योनि के सूखेपन के बारे में बात करना शर्मनाक लग सकता है, लेकिन यह एक महत्वपूर्ण चिकित्सा स्थिति है और इसके कारणों का जल्द से जल्द पता लगाना आवश्यक होता है।

योनि का सूखापन आपको सेक्स में असहज महसूस करा सकता है और रिश्तों में बाधा डाल सकता है, क्योंकि यह सेक्स को बहुत दर्दनाक बना सकता है।

इसलिए जैसे ही सूखापन आपकी जीवनशैली और सेक्स में हस्तक्षेप करना शुरू कर देता है, तो एक स्त्री रोग विशेषज्ञ से मिलें।

 
 
 
 

स्त्री रोग विशेषज्ञ से क्या अपेक्षा करें

विशेषज्ञ आपके लक्षणों के बारे में कई प्रश्न पूछेगा, जिनमें से कुछ असंबंधित लग सकते हैं। विशेषज्ञ को उन सभी नुस्खों और ओवर-द-काउंटर दवाओं के बारे में सूचित करें जो आप ले रही हैं। विशेषज्ञ आपका एक शारीरिक टेस्ट भी करेगा, जिसमें पेल्विक टेस्ट शामिल है।

पैल्विक टेस्ट के दौरान, विशेषज्ञ आपके पेट पर दबाव डालते हुए आपकी योनि में दस्ताने पहने हुई ऊँगली डालेगा। इससे उसे प्रजनन अंगों में किसी भी परिवर्तन या असामान्यताओं का पता लगाने में मदद मिलेगी।

यदि विशेषज्ञ आपके सूखेपन के कारण का पता नहीं लगा पा रहा है, या यदि आपमें कुछ अन्य लक्षण भी हैं, तो आपको अतिरिक्त टेस्ट से गुजरना पड़ सकता है।

आपको पैप टेस्ट करवाने की आवश्यकता हो सकती है, जो तब होता है जब विशेषज्ञ संक्रमण और कैंसर के परीक्षण के लिए आपके गर्भाशय ग्रीवा से कोशिकाओं का नमूना एकत्र करता है। टेस्ट के लिए आपके योनि के ऊतकों से भी एक नमूना निकाला जा सकता है।

एक बार जब विशेषज्ञ आपके सूखेपन का मूल कारण जान जाता है, तो वह आपको उपचार विकल्प बताएगा। हालांकि एस्ट्रोजन थेरेपी इसका एक सामान्य उपचार है, लेकिन कुछ वैकल्पिक विकल्प भी उपलब्ध हैं।

योनि के सूखेपन के वैकल्पिक उपचार

हार्मोन थेरेपी हर किसी के लिए सही इलाज नहीं होता है। खासकर उन महिलाओं के लिए जो पहले किसी गंभीर बीमारी जैसे कैंसर का इलाज करवा चुकी हैं।

योनि के प्राकृतिक एस्ट्रोजन को बदलने से योनि के सूखेपन में राहत मिल सकती है, लेकिन इसके कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं, जैसे:

  • वजन बढ़ना
  • शरीर के ऊतकों और कैविटी में द्रव का संचयीकरण होना।
  • जी मचलना
  • सिरदर्द
  • स्तनों की सेंसिटिविटी और कोमलना बढ़ना
  • स्किन पर धब्बे बनना
  • हार्ट अटैक, रक्त के थक्कों और स्तन व योनि के कैंसर का खतरा बढ़ना

योनि का सूखापन दूर करने के कई वैकल्पिक उपचार उपलब्ध हैं जो बहुत अच्छी तरह से काम करते हैं और एस्ट्रोजन थेरेपी का उपयोग करने से पहले इन्हें आजमाना एक अच्छा विचार है। यह उपचार निम्न हैं:

  • पानी आधारित लुब्रीकेंट योनि की परत में नमी जोड़ने में मदद कर सकते हैं। इनकी प्रभावशीलता एक बार में घंटों तक बनी रह सकती है, जिससे सेक्स में असुविधा होने पर यह एक अच्छा विकल्प होते हैं।
  • कुछ विशेष रूप से सूखापन को दूर करने के लिए बनाए गए योनि मॉइस्चराइज़र भी उपलब्ध हैं, जो तीन दिनों तक सूखेपन के लक्षणों को दूर करने में मददगार हो सकते हैं।
  • सोयाबीन और इससे बने उत्पादों में मौजूद यौगिक, योनि में एस्ट्रोजन के प्रभाव बढ़ाते हैं। इसलिए अगर आप सोयाबीन को अपने आहार में शामिल करती हैं, तो आपको योनि के सूखेपन से कुछ राहत मिल सकती है।
  • ब्लैक कोहोश (Black cohosh) नामक एक हर्बल सप्लीमेंट को रजोनिवृत्ति के लक्षणों से राहत प्रदान करने में मददगार माना जाता है। हालाँकि अभी तक कोई महत्वपूर्ण नैदानिक शोध नहीं हुए हैं, जो इसकी प्रभावशीलता को साबित करते हों।

किसी भी प्रकार की हर्बल दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें, क्योंकि यह अन्य दवाओं, विटामिन या अन्य जड़ी-बूटियों में हस्तक्षेप कर सकती है जो आप वर्तमान में ले रही हैं।

इन विकल्पों के अलावा, योनि की सफाई करने वाले उत्पादों से बचना भी एक अच्छा विचार है। ये उत्पाद आपकी योनि के सूखापन को और खराब कर सकते हैं।

हालाँकि सूखापन सेक्स को असहज बना सकता है, लेकिन नियमित रूप से अधिक सेक्स करने से योनि में प्राकृतिक चिकनाहट को बढ़ावा मिलता है।

अंत में, योनि का सूखापन एक असहज स्थिति होती है, लेकिन इसका प्रबंधन और इलाज करना संभव है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.