हस्तमैथुन छोड़ने के 6 तरीके

हस्तमैथुन आपकी यौन अभिव्यक्ति का एक सामान्य हिस्सा होता है। यह तनाव को कम कर सकता है और एक व्यक्ति को यह तय करने में मदद कर सकता है कि वह सेक्स में क्या पसंद करता है। लेकिन यदि इसकी लत पड़ जाए तो समस्या हो सकती है। हस्तमैथुन की लत से छुटकारा पाने के कई तरीके होते हैं जिनके बारे में हम नीचे चर्चा करेंगे।

हस्तमैथुन छोड़ने के 6 तरीके


ज्यादातर मामलों में हस्तमैथुन करना एक नार्मल सेक्सुअल प्रैक्टिस होती है जिससे कोई भी शारीरिक या मानसिक संकट नहीं होता।

हालाँकि, यदि यह व्यक्ति के जीवन पर नकारात्मक प्रभाव डालने लगे तो जरूर समस्या है।

नीचे हम चर्चा करेंगे कि हस्तमैथुन को छोड़ना क्यों जरूरी है, इसे कैसे छोड़ें और कैसे पता करें यह कब एक समस्या का रूप ले सकता है।

क्यों छोड़ें?

कुछ मामलों में, हस्तमैथुन नकारात्मक भावनाओं को जन्म दे सकता है या किसी व्यक्ति के जीवन के कुछ पहलुओं के साथ हस्तक्षेप कर सकता है।

उदाहरण के लिए, यदि कोई व्यक्ति हस्तमैथुन करने के लिए दूसरों लोगों से बातचीत करना कम कर देता है या अपने कामों को बीच में ही छोड़ने लगता है, तो यही सही समय है हस्तमैथुन को छोड़ने के बारे में सोचने के लिए।

कुछ मामलों में, अत्यधिक हस्तमैथुन के कारण लिंग की स्किन में जलन और सूजन भी हो सकती है। यदि आपको भी यह समस्या है तो ऐसी कई रणनीतियाँ और तकनीकें हैं जो हस्तमैथुन को छोड़ने में मदद कर सकती हैं।

कैसे छोड़ें?

यदि हस्तमैथुन आपके लिए एक समस्या बनता जा रहा है, तो इसे छोड़ने की कुछ तकनीकें और रणनीतियाँ हैं।

इन तकनीकों को एक साथ अपनाना ज्यादा फायदेमंद हो सकता है।

1. पोर्न से बचें​

अत्यधिक पोर्न देखने से हस्तमैथुन करने की इच्छा में बढ़ोतरी हो सकती है।

जो लोग हस्तमैथुन छोड़ने की इच्छा रखते हैं उन्हें सबसे पहले पोर्न वीडियो, इमेज और वेबसाइट्स से बचना चाहिए। यदि व्यक्ति किसी प्रकार से अपने और पोर्न के बीच में दीवार खड़ी कर देता है तो उसे हस्तमैथुन की लत छोड़ने में काफी आसानी होती है।

आजकल कुछ ही सेकंड्स में पोर्न को देखना काफी आसान हो गया है। हालाँकि, लोग इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों पर फ़िल्टर का उपयोग करके पोर्नोग्राफ़ी तक अपनी पहुंच को सीमित करने का प्रयास कर सकते हैं जो कुछ प्रकार की सामग्री, जैसे कि पोर्न सामग्री को ब्लॉक करते हैं।

हालाँकि इन वेबसाइट्स को आप अनब्लॉक भी कर सकता है, लेकिन ऐसा करने में समय लगता है और इस दौरान व्यक्ति अपनेआप को कंट्रोल करने की कोशिश कर सकता है।

2. एक्टिव रहें​

अपने आप को अन्य कामों में व्यस्त रखने से भी हस्तमैथुन करने की इच्छा में कमी लाई जा सकती है। आप कोई हॉबी शुरू कर सकते हैं या कोई नया कौशल सीख सकते हैं, जैसे म्यूजिक बजाना सीखना या कोई नया खेल खेलना सीखना।

अपने गोल्स सेट करने से व्यक्ति को अपनी एनर्जी को एक जगह फोकस करने और अन्य कामों में उत्साह और तृप्ति ढूँढ़ने में मदद मिलती है।

इससे आपको यह निर्धारित करने में भी मदद मिल सकती है कि आपको कब हस्तमैथुन करने की सबसे ज्यादा इच्छा होती है और इस समय आप अपनेआप को अन्य गतिविधियों में व्यस्त रख सकते हैं।

विज्ञापन
loading...


3. मनोवैज्ञानिक से सहायता लें​

यदि हस्तमैथुन आपके जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर रहा है तो एक मनोवैज्ञानिक से संपर्क करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

यह संभव है कि आपको कोई अन्य मनोवैज्ञानिक समस्या जैसे obsessive-compulsive disorder (OCD) हो। OCD एक मानसिक बीमारी है जो बार-बार अवांछित विचारों या संवेदनाओं (जुनून) को उत्तेजित करती है या बार-बार कुछ करने को मजबूर करती है। एक मनोवैज्ञानिक या डॉक्टर से बात करके आप इन नकारात्मक भावनाओं को कम करने और अपने स्वभाव में बदलाव लाने के तरीके सीख सकते हैं।

4. दूसरों के साथ अधिक समय बिताएं​

कुछ लोग हस्तमैथुन इसलिए करते हैं क्योंकि उन्हें अकेलापन महसूस होता है या उनके पास अपना समय काटने के लिए कुछ और मनोरंजक तरीका नहीं होता।

इसलिए अकेले कम समय बिताने से हस्तमैथुन के अवसर कम हो जाते हैं। दूसरों के साथ समय बिताने से न सिर्फ आपका समय कटेगा बल्कि आप दूसरों के अकेलेपन को भी दूर कर पाएंगे।

अकेलेपन को दूर करने के कई तरीके होते हैं। आप अपने दोस्तों या परिवार के लोगों से मिल सकते हैं, कोई एक्स्ट्रा क्लास जॉइन कर सकते हैं या जिम जाना शुरू कर सकते हैं।

5. एक्सरसाइज​

एक्सरसाइज तनाव कम करने और सकारात्मक रूप से एनर्जी को फोकस करने में मदद कर सकती है।

कुछ गतिविधियाँ जैसे रनिंग, स्विमिंग और वेट लिफ्टिंग शरीर को मजबूत कर सकती हैं और एंडोर्फिन हॉर्मोन के स्त्राव को बड़ा सकती हैं जिससे आपको सुख का अनुभव होता है।

अधिक ख़ुशी और आराम का अनुभव करने से आपकी बार-बार हस्तमैथुन करने की इच्छा कम हो सकती है।

6. लत-मुक्ति केंद्र ढूँढ़ें​

जब हस्तमैथुन लत का रूप ले लेता है तो इसके कई कारण हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, यह निम्न कारणों से हो सकता है:
  • किसी मानसिक बीमारी का होना
  • पारिवारिक संबंधों में कड़वाहट
  • सेक्सुअलिटी के बारे में नकारात्मक विचार होना
  • कल्चरल और धार्मिक संघर्ष
लत मुक्ति केंद्र में विश्वसनीय लोगों से मदद लेकर आप इस लत से छुटकारा सकते हैं।

जब कोई व्यक्ति अपने सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में खुलकर बात करता है, तो दूसरे लोग उसे अच्छा महसूस कराने में मदद कर सकते हैं। इससे हस्तमैथुन की लत के कारण व्यक्ति के अंदर की आपराधिक भावना या शर्म को कम करने में मदद मिल सकती है।

साइड इफेक्ट्स

हस्तमैथुन के सीधे तौर पर कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होते।

लेकिन, यदि हस्तमैथुन एक लत या कठोरता का रूप ले ले तो इसके निम्न साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं:
  • सूजन (Edema): हस्तमैथुन के दौरान लिंग को बहुत कसकर पकड़ने से हल्की सूजन हो सकती है।
  • स्किन में जलन: जब हस्तमैथुन अत्यधिक कठोर होता है, तो इससे लिंग की स्किन छिल सकती है। लेकिन यह स्किन की जलन आमतौर पर हल्की होती है और कुछ ही दिनों में ठीक हो जाती है।
  • आपराधिक भावना: हालाँकि हस्तमैथुन करना गलत या अस्वस्थ नहीं होता, लेकिन कुछ लोगों को इसे करने के बाद आपराधिक भावना या शर्म महसूस हो सकती है।
कुछ मिथक जैसे हस्तमैथुन से अंधापन, हथेली में बाल या इनफर्टिलिटी होना पूरी तरह से गलत हैं।

हस्तमैथुन कब समस्या बन जाता है?

हस्तमैथुन तब समस्या बन जाता है जब यह व्यक्ति के जीवन और रोजमर्रा के कामकाजों पर नकारात्मक प्रभाव डालने लगता है।

उदाहरण के लिए, यदि यह आपकी ऑर्गाज्म की क्षमता या अपनी पार्टनर के साथ संबंधों पर बुरा असर डाल रहा है, तो आपको इस लत छोड़ने के बारे में सोचना चाहिए।

Compulsive Sexual Behaviour​

कुछ मामलों में, हस्तमैथुन की लत compulsive sexual behavior के कारण हो सकती है।

Compulsive sexual behaviour में व्यक्ति को काफी तेज और बार-बार सेक्स करने और अपनी काल्पनिक फैंटसीज को पूरा करने की इच्छा होती है।

यहाँ पर एक बात ध्यान देने योग्य है कि यह कामोत्तेजना या सेक्स ड्राइव में बढ़ोतरी होने जैसा नहीं होता, बल्कि यह एक मानसिक बीमारी होती है।

Compulsive behaviour के कारण मनोवैज्ञानिक समस्याएं या तनाव पैदा हो सकता है। इससे कारण व्यक्ति को वास्तव में हस्तमैथुन का पूरा आनंद लेने में कठिनाई होती है।

जब हस्तमैथुन compulsion होता है तो वास्तव में यह एक मनोवैज्ञानिक समस्या है। जर्नल ऑफ़ साइकाइट्री में पब्लिश हुई एक केस स्टडी के अनुसार, compulsive हस्तमैथुन आमतौर पर या तो एक impulse control condition हो सकती है या एक प्रकार का यौन रोग हो सकता है।

अपराध की भावना​

कुछ लोगों में हस्तमैथुन एक तीव्र आपराधिक भावना का कारण भी बन सकता है।

सेक्सुअल मेडिसिन जर्नल में पब्लिश हुई एक स्टडी के अनुसार, टोटल 4211 भाग लिए पुरुषों में से 8.4% पुरुषों ने यह बताया कि उन्हें हस्तमैथुन करने के बाद आपराधिक भावना महसूस होती है।

आपराधिक भावना के कारण कई और समस्याएं भी हो सकती हैं। उदाहरण के लिए, अक्सर इस भावना से ग्रसित लोग अत्यधिक शराब का सेवन करने लगते हैं जिससे उनमें कई मानसिक और शारीरिक समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

विज्ञापन
loading


निष्कर्ष

ज्यादातर मामलों में हस्तमैथुन सेक्सुअलिटी का एक सामान्य हिस्सा होता है। अलग-अलग लोगों में हस्तमैथुन करने की आवृत्ति अलग-अलग होती है, कोई ऐसी कोई फिक्स आवृत्ति नहीं है जिसे नार्मल कहा जा सके।

हालाँकि, यदि हस्तमैथुन जीवन के अन्य कामकाजों पर बुरा असर डालने लगे या इससे तनाव या आपराधिक भावना महसूस होने लगे, तो इसे कम करना या पूरी तरह से छोड़ देना फायदेमंद हो सकता है।

हस्तमैथुन छोड़ने के कई तरीके हो सकते हैं, जैसे पोर्नोग्राफी से दूर रहना और रोजमर्रा के कामकाजों पर ज्यादा ध्यान देना। हालाँकि, यदि किसी व्यक्ति को हस्तमैथुन की अत्यधिक लत या sexual compulsion पैदा हो गया हो तो किसी अच्छे मनोवैज्ञानिक या लत-मुक्ति केंद्र में संपर्क करना ठीक रहेगा।
 
Last edited by a moderator:

सुझावित टॉपिक्स

Top